विदेश की खबरें | एकपक्षवाद से महामारी और मजबूती से पैर जमाएगी :संयुक्त राष्ट्र महासभा अध्यक्ष

तुर्की के राजनयिक और राजनेता वोल्कन बोजकिर ने घोषणा की कि महासभा नवंबर की शुरुआत में कोविड-19 पर उच्च स्तरीय विशेष सत्र का आयोजन करेगी। हालांकि राजनयिकों के अनुसार तारीख आगे भी बढ़ सकती है।

बाद में उन्होंने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि यह बैठक कुछ पहले, जून में होनी चाहिए थी।

यह भी पढ़े | तो क्या अमेरिका से फैला कोरोना? रिपोर्ट से मिले संकेत.

बोजकिर ने पद की शपथ लेने के साथ 193 सदस्यीय वैश्विक संस्था की कमान संभाल ली है। उन्होंने तिजानी मुहम्मद बंदे का स्थान लिया है।

बोजकिर ने संरा के सदस्य राष्ट्रों के प्रतिनिधियों से कहा, ‘‘मेरे अध्यक्षता काल में कोरोना वायरस के प्रभावों से लड़ना मेरी प्राथमिकता होगी।’’

यह भी पढ़े | Coronavirus Update: अमेरिका में करीब 550,000 बच्चे COVID19 से संक्रमित, दो सप्ताह में संक्रमितों की संख्या बढ़ी.

उन्होंने कहा, ‘‘कोई भी देश इस महामारी से अकेले नहीं लड़ सकता’’ और यह सदस्य राष्ट्रों की जिम्मेदारी है कि वे बहुपक्षीय सहयोग और अंतरराष्ट्रीय संस्थानों में लोगों के भरोसे को मजबूत करें, जिनके केंद्र में संयुक्त राष्ट्र हो।

उन्होंने कहा कि जब से संकट शुरू हुआ है, बहुपक्षवाद के आलोचक और मुखर हो गए हैं।

बोजकिर ने कहा, ‘‘महामारी के बहाने एकतरफा कदमों को सही ठहाराया जा रहा है और नियम आधारित अंतरराष्ट्रीय प्रणाली को कमजोर किया जा रहा है। अंतरराष्ट्रीय संगठनों को धिक्कारा गया और अंतरराष्ट्रीय सहयोग की जरूरत पर सवालिया निशान लगाए गए।’’

संरा महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने कहा कि आने वाला साल संयुक्त राष्ट्र के लिए बहुत कठिन रहने वाला है।

मुहम्मद बंदे ने अपने विदाई भाषण में कहा कि नोवेल कोरोना वायरस के उभरने से यह स्पष्ट हुआ है कि स्वास्थ्य क्षेत्र तथा अन्य क्षेत्रों में भी गहन बहुपक्षीय सहयोग की आवश्यकता है जिससे कि विश्व के नेताओं के वादों को लागू किया जा सके।

एपी

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)