ताजा खबरें | लोकसभा में उठा पाकिस्तान की जेलों में बंद भारतीय मछुआरों का मुद्दा

नयी दिल्ली, 16 सितंबर लोकसभा में भाजपा के एक सदस्य ने पाकिस्तान की जेलों में कैद भारतीय मछुआरों के मुद्दे को उठाया और सरकार ने इनकी रिहाई सुनिश्चित करने के लिये कदम उठाने की मांग की ।

शून्यकाल के दौरान निचले सदन में इस मुद्दे को उठाते हुए दमन दीव के सांसद लालूभाई बाबूभाई पटेल ने कहा कि पाकिस्तान की जेलों में काफी संख्या में भारतीय मछुआरे कैद हैं और उनकी काफी नौकाएं भी जब्त कर ली गई हैं ।

यह भी पढ़े | देश की खबरें | ग्रेटर कैलाश-2 में बेसमेंट में पानी भरने की समस्या का तत्काल समाधान निकाला जाए : उच्च न्यायालय.

उन्होंने कहा कि इन मछुआरों के परिवारों को उनके कुशलक्षेम की जानकारी भी नहीं मिल पाती है, इससे परिवार के लोग काफी परेशान रहते हैं।

भाजपा सांसद ने कहा कि इस विषय पर पाकिस्तान के साथ बात करके कोई रास्ता निकाला जाना चाहिए ।

यह भी पढ़े | ताजा खबरें | भारत में 2017 और 2018 में 1,198 लोगों को रासुका के तहत हिरासत में लिया गया.

शून्यकाल के दौरान बीजद के भतृहरि माहताब ने कहा कि ओडिशा में भारी मात्रा में लौह अयस्क, क्रोमाइट, लिग्नाइट, बॉक्साइट पाया जाता है लेकिन पिछले कुछ समय से उसे वाजिब रॉयल्टी नहीं मिल रही है।

उन्होंने कहा कि रॉयल्टी की पिछली बार समीक्षा सितंबर 2014 में की गई थी । जबकि इसकी समीक्षा तीन साल में होनी चाहिए । ऐसा नहीं होने के कारण ओडिशा प्रभावित हो रहा है। ऐसे में जल्द रॉयल्टी से जुड़े मुद्दे की समीक्षा की जाए ।

वाईएसआरसीपी पार्टी के मिथुन रेड्डी ने आंध्र प्रदेश में पूर्ववर्ती सरकार के दौरान राज्य के बंटवारे के बाद नयी राजधानी की घोषणा के समय जमीन की हेराफेरी किये जाने का आरोप लगाया ।

उन्होंने कहा कि नयी राजधानी की घोषणा से पहले बड़ी मात्रा में काफी सस्ती दर पर जमीन खरीदी गई । यह एक बड़ा घोटाला है ।

रेड्डी ने कहा कि चूंकि उनकी पार्टी की अभी राज्य में सरकार है, ऐसे में वह चाहते हैं कि इस मामले की सीबीआई से जांच हो ।

शून्यकाल के दौरान जदयू के सुनील कुमार पिंटो ने बिहार के सीतामढ़ी स्थित रीगा चीनी मिल पर किसानों की बकाया राशि का भुगतान सुनिश्चित करने की मांग की ।

उन्होंने कहा कि रीगा चीनी मिल पर किसानों का करीब 100 करोड़ रूपया बकाया है, किसान परेशान हैं। ऐसे में किसानों की बकाया राशि का भुगतान सुनिश्चित करने के लिये कदम उठाये जाएं।

दीपक वैभव

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)