देश की खबरें | प्रधानमंत्री ने पश्चिम बंगाल में कई रेलवे परियोजनाओं का उद्घाटन किया

नयी दिल्ली, 22 फरवरी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को पश्चिम बंगाल में कई रेलवे परियोजनाओं का उद्घाटन किया।

मोदी ने नोआपाड़ा से दक्षिणेश्वर तक कोलकाता मेट्रो रेलवे के विस्तार का उद्घाटन किया और इस खंड पर पहली ट्रेन को हरी झंडी दिखाई। उन्होंने कलाईकुंडा और झाड़ग्राम के बीच तीसरी लाइन का भी उद्घाटन किया।

दक्षिणेश्वर 160 साल से अधिक पुराने काली मंदिर के लिये प्रसिद्ध है।

उन्होंने डिजिटल माध्यम से यहां मेट्रो रेलवे के उत्तर-दक्षिण गलियारे पर नोआपाड़ा से दक्षिणेश्वर तक 4.1 किलोमीटर के खंड पर पहली ट्रेन को हरी झंडी दिखाई। इस खंड का निर्माण 464 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है।

रेल मंत्रालय के एक बयान में कहा गया, "इस विस्तारित खंड से शहर और इसके आस-पास के क्षेत्रों में हजारों यात्रियों को भारी यातायात जाम से मुक्ति मिलेगी और तीव्र, आसान, प्रदूषण-मुक्त यात्रा लाभ मिलेगा। हावड़ा, हुगली और उत्तर 24 परगना से आने वाले लगभग 50,000 दैनिक यात्री इस विस्तार से लाभान्वित होंगे।’’

एक रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि आज अनावरण की गई परियोजनाएं हुगली के आसपास रहने वाले लाखों लोगों के जीवन को आसान बनाएंगी।

उन्होंने कहा कि परिवहन के बेहतर साधन आत्मनिर्भरता के लिए देश के संकल्प को मजबूत करेंगे। उन्होंने खुशी व्यक्त की कि कोलकाता के अलावा हुगली, हावड़ा और उत्तर 24 परगना जिले के लोगों को भी मेट्रो सेवा का लाभ मिलेगा।

उन्होंने कहा, ‘‘अब श्रद्धालुओं के लिये कालीघाट और दक्षिणेश्वर के काली मंदिरों में जाना बेहद आसान हो गया है।’’

प्रधानमंत्री ने कहा कि यात्री शहर के दक्षिणी छोर पर कवि सुभाष स्टेशन से दक्षिणेश्वर तक की यात्रा महज एक घंटे से कुछ अधिक समय में कर सकेंगे। यह दूरी लगभग 31.3 किलोमीटर है। उन्होंने कहा कि सड़क से इस दूरी को तय करने में लगभग ढाई घंटे लगते हैं।

मोदी ने कलाईकुंडा और झाड़ग्राम के बीच तीसरी लाइन, अज़ीमगंज से खगराघाट रोड खंड के दोहरीकरण, डानकुनी और बरुइपाड़ा के बीच चौथी लाइन और रसूलपुर और मगरा के बीच तीसरी लाइन राष्ट्र को समर्पित किया।

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘परिवहन सुविधाओं की बेहतरी से आत्मनिर्भरता और खुद पर भरोसे का हमारा संकल्प मजबूत होगा।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे खुशी है कि सभी परियोजनाओं में ‘मेड इन इंडिया’ की छाप स्पष्ट रूप से दिखाई पड़ रही है, चाहे वह मेट्रो हो या रेलवे प्रणाली।’’

उन्होंने कहा कि नई लाइनों से भीड़ कम होगी और बेहतर कनेक्टिविटी सुनिश्चित होगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि मेट्रो रेलवे का विस्तार शहर के कालीघाट मंदिर और दक्षिणेश्वर काली मंदिर के बीच आसान और तेज कनेक्टिविटी सुनिश्चित करेगा ।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)