देश की खबरें | चुनावी मौसम में प्रधानमंत्री मोदी के ‘नूब’ वाले बयान को लेकर सियासी घमासान

नयी दिल्ली, 13 अप्रैल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को गेमर्स के साथ बातचीत के दौरान कहा, ‘‘मैं अगर इसे (नूब) कहता हूं, तो आप इसे किसी विशेष व्यक्ति के लिए मान लेंगे।’’

प्रधानमंत्री की इस टिप्पणी के बाद जैसे ही सोशल मीडिया पर बहस शुरू हो गई। सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेताओं ने इस मौके का फायदा उठाते हुए विपक्ष पर तंज कसा और राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप शुरू कर दिया।

ई-गेमिंग उद्योग के भविष्य और उसके समक्ष मौजूद चुनौतियों के बारे में प्रधानमंत्री के साथ बातचीत में, शीर्ष भारतीय ऑनलाइन गेमर्स ने इस उद्योग में उपयोग की जाने वाली कुछ शब्दावली जैसे ‘नूब’ और ‘ग्राइंड’ पर भी चर्चा की।

जैसा कि खिलाड़ियों ने प्रधानमंत्री को समझाया कि ‘नूब’ किसी नौसिखिया या खेल में बहुत कुशल नहीं होने का संदर्भ है। इस पर मोदी ने हंसते हुए कहा, ‘‘अगर मैं चुनाव के दौरान इस शब्द का इस्तेमाल करूंगा, तो लोग हैरान होंगे कि मैं किसकी बात कर रहा हूं। अगर मैं यह कहता हूं, तो आप इसे किसी विशेष व्यक्ति के लिए मान लेंगे।’’

हालांकि मोदी ने किसी का नाम नहीं लिया, लेकिन इस संदर्भ से राजनीतिक बयानबाजी का दौर शुरू हो गया। कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने इस टिप्पणी को लेकर प्रधानमंत्री की आलोचना की।

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे नहीं पता कि वह किसके बारे में बात कर रहे हैं लेकिन वह एक विपक्षी सदस्य के बारे में बात कर रहे हैं। किसी ऐसे व्यक्ति के बारे में बात कर रहे हैं जो शीर्ष विश्वविद्यालयों में पढ़ा-लिखा है ... ये चुनाव के इर्द-गिर्द भाजपा की सिर्फ राजनीतिक चाल है।’’

कांग्रेस नेता ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘इसका उल्टा असर होगा।’’

भाजपा नेता शहजाद पूनावाला ने कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी की टिप्पणी पर विपक्षी पार्टी के नेता की प्रतिक्रिया यह पुष्टि करती है कि वास्तव में राजनीति में ‘नूब’ कौन है।

उन्होंने ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा, ‘‘प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किसी का नाम नहीं लिया लेकिन कांग्रेस नेता प्रतिक्रिया क्यों दे रहे हैं और पुष्टि कर रहे हैं ‘कि राजनीति का नूब कौन है'।’’

बॉलीवुड अभिनेत्री और हिमाचल प्रदेश के मंडी से भाजपा उम्मीदवार कंगना रनौत ने गेमर्स के साथ मोदी की बातचीत की एक क्लिप पोस्ट की और सवाल किया, ‘‘यह नूब कौन है?’’

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव तरुण चुघ ने कहा कि पूरा देश जानता है कि विपक्ष में सबसे बड़ा ‘नूब’ कौन है।

उन्होंने कहा, ‘‘गठबंधन (इंडिया) में कई राजकुमार और राजकुमारियां हैं जिन्हें जमीनी हकीकत के बारे में कुछ नहीं पता, देश की समस्याओं के बारे में कोई जानकारी नहीं है और वे देश के बारे में भी कुछ नहीं जानते। फाइव स्टार कल्चर और सेवन स्टार स्कूल-कॉलेजों में पढ़े ये नेता हेलिकॉप्टर से उतरे हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘गठबंधन में कई नूब हैं लेकिन आपको पता होना चाहिए कि सबसे बड़ा नूब कौन है। देश को यह भी पता है कि सबसे बड़ा नूब कौन है।’’

प्रधानमंत्री की टिप्पणी के बाद सोशल मीडिया पर ‘मीम’ बनाकर पोस्ट करने का सिलसिला आरंभ हो गया और कई उपयोगकर्ताओं ने पूछा है कि ‘नूब’ कौन है?

तीरथ मेहता, अनिमेष अग्रवाल, अंशु बिष्ट, नमन माथुर, मिथिलेश पाटनकर, गणेश गंगाधर और पायल धारे ने मोदी के साथ आधे घंटे तक बातचीत की।

‘गेमर्स’ ने प्रधानमंत्री के साथ ‘गेमिंग’ उद्योग में नए क्रियाकलापों के बारे में चर्चा की। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि कैसे सरकार ने भारत में ‘गेमिंग’ उद्योग को बढ़ावा देने वाले ‘गेमर्स’ की रचनात्मकता को मान्यता दी है।

उन्होंने ‘गेमिंग’ उद्योग में महिलाओं की भागीदारी पर भी चर्चा की और साथ ही जुआ बनाम ‘गेमिंग’ से संबंधित मुद्दों पर भी विचार साझा किए।

ब्रजेन्द्र

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)