देश की खबरें | त्रिपुरा में प्रदर्शनकारियों पर पुलिस की गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत, 20 घायल
एनडीआरएफ/प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credits: ANI)

अगरतला, 21 नवंबर उत्तरी त्रिपुरा जिले के पानीसागर में असम-अगरतला राष्ट्रीय राजमार्ग को बंद कर प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पुलिस की गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत हो गई और 20 अन्य घायल हो गए। ये लोग पड़ोसी राज्य मिजोरम से आए ब्रू प्रवासियों को त्रिपुरा में बसाने का विरोध कर रहे थे।

पुलिस ने कहा कि बड़ी संख्या में लोग पानीसागर राष्ट्रीय राजमार्ग-8 पर जमा हुए और उसे बंद कर दिया। उन्होंने सरकार से ब्रू प्रवासियों को त्रिपुरा में बसाने की योजना वापस लेने की मांग की।

यह भी पढ़े | HDFC Bank Down?: एचडीएफसी बैंक का नेट बैंकिंग UPI, ऑनलाइन और कार्ड पेमेंट नहीं कर रहा है काम, सोशल मीडिया पर कस्टमर का दावा.

बंगाली और स्थानीय मिजो समुदाय की संयुक्त आंदोलन समिति (जेएमसी) ने इस मुद्दे पर सोमवार से पांच दिवसीय हड़ताल की घोषणा की है, जिसके तहत उन्होंने शनिवार को राजमार्ग-8 को बंद कर दिया।

केन्द्र सरकार ने इस साल जनवरी में एक नए समझौते पर हस्ताक्षर किये थे जिसके तहत, त्रिपुरा के राहत शिविरों में रह रहे ब्रू समुदाय के लोगों को वापस जाने के लिये मजबूर नहीं किया जाएगा।

यह भी पढ़े | Maharashtra Coronavirus Update: दिल्ली के बाद महाराष्ट्र में कोरोना के मामले बढ़ने शुरू, 5,760 नए केस पाए जाने के बाद पीड़ितों की संख्या 17 लाख के पार, अब तक 46,573 मौतें.

शनिवार को हालात उस समय खराब हो गए जब पुलिस और त्रिपुरा स्टेट राइफल्स (टीएसआर) समेत अर्धसैनिक बलों के एक बड़े दस्ते की सड़क खाली कराने को लेकर प्रदर्शनकारियों से झड़प हो गई।

पुलिस ने पहले प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज किया और बाद में गोलीबारी की , जिसमें प्रदर्शन में शामिल 40 वर्षीय व्यक्ति श्रीकांत दास की मौत हो गई।

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक राजीव सिंह ने कहा कि पुलिस को अपने बचाव के लिये गोली चलानी पड़ी क्योंकि भीड़ बेकाबू हो गई थी और सुरक्षा बलों से हथियार छीनने की कोशिश कर रही थी। उन्होंने स्वीकार किया कि इस दौरान एक व्यक्ति की मौत हो गई और कुछ लोग घायल हो गए।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)