जरुरी जानकारी | भारत वायरस के प्रसार को रोकने में सार्वभौमिक टीकाकरण के महत्त्व को समझता है: सीतारमण

वाशिंगटन, 14 अक्टूबर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बृहस्पतिवार को कहा कि भारत कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने में सार्वभौमिक टीकाकरण के महत्त्व को समझता है और कम आय वाले देशों तथा विकसित देशों के बीच टीकाकरण पहुंच में भारी अंतर चिंता का विषय है।

सीतारमण ने यहां अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) की अंतरराष्ट्रीय मुद्रा और वित्तीय समिति की बैठक को संबोधित करते हुए यह बात कही।

वित्त मंत्रालय ने ट्वीट किया, ‘‘वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि भारत वायरस के प्रसार को रोकने में सार्वभौमिक टीकाकरण के महत्त्व को जानता है और कम आय वाले देशों और उन्नत देशों के टीकाकरण कवरेज में भारी अंतर चिंता का विषय है।’’

मंत्रालय ने कहा कि उन्होंने जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए बहुपक्षीय दृष्टिकोण के महत्त्व पर जोर दिया और कहा कि विकासशील देशों को किफायती वित्तपोषण और प्रौद्योगिकी तक पहुंच प्राप्त करने में आने वाली विकट चुनौतियों को पहचानना महत्त्वपूर्ण है।

जलवायु पर उनकी टिप्पणी 2021 के संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन से पहले आई, जो अगले महीने स्कॉटलैंड के ग्लासगो में आयोजित होने वाला है।

सीतारमण ने कहा कि आईएमएफ को कम आय वाले देशों के लिये आवश्यक नीति बनाने और उनकी क्षमता को बढ़ाने में मदद करनी चाहिए।

मंत्रालय के अनुसार, उन्होंने आगे आग्रह किया कि विकसित अर्थव्यवस्थाएं जिनके पास एसडीआर का बड़ा भंडार है, उन्हें स्वेच्छा से अपने विशेष आहरण अधिकार (एसडीआर) से जरूरतमंद देशों की मदद करनी चाहिए।

सीतारमण अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष और विश्व बैंक की वार्षिक बैठकों में भाग लेने के लिए वाशिंगटन में हैं।

कृष्ण

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)