देश की खबरें | हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल राजेंद्र और उनकी पत्नी ने गोरखनाथ मंदिर में दर्शन किए

जिले की पहली यात्रा पर आये अर्लेकर दंपत्ति का मंदिर प्रशासन ने स्वागत किया और अपने 45 मिनट के प्रवास के दौरान राज्यपाल और उनकी पत्नी खुश दिखे । राज्यपाल ने मंदिर की आगंतुक पुस्तिक में अपने विचार भी लिखे ।

मंदिर सचिव द्वारिका तिवारी ने वैदिक मंत्रोच्चार के बीच राज्यपाल और उनकी पत्नी का स्वागत किया और बाद में उन्होंने पूजा कर देश के लिए प्रार्थना की । उन्होंने अखंड ज्योति को भी देखा, जिसके बारे में कहा जाता है कि यह त्रेतायुग से प्रकाशमान है ।

राज्यपाल मंदिर परिसर के अंदर भीम सरोवर गए और भगवान भीम के दर्शन करने के बाद वे गोरक्षपीठधीश्वर कक्ष में लौट आए जहां उन्होंने प्रसाद लिया।

प्रोफेसर यू पी सिंह ने उन्हें गोरक्षपीठ शिक्षा, चिकित्सा शिक्षा और सामाजिक कार्यों के बारे में बताया और राज्यपाल ने गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ के कल्याण कार्यों की सराहना की।

राज्यपाल ने भी आगंतुक पुस्तिका में लिखा है कि उन्हें गुरु गोरखनाथ के पवित्र स्थान का दर्शन कर बहुत खुशी हुई। उन्होंने यह भी लिखा कि सांस्कृतिक विरासत और पूजा-पाठ परंपरा समृद्ध हो रही है और देशवासियों के लिए वह सर्वशक्तिमान, गुरु गोरखनाथ और अन्य सभी गुरुओं का आशीर्वाद चाहते हैं।

बाद में हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल ने गीता प्रेस का दौरा किया और हस्तनिर्मित चित्रों को देखकर प्रसन्न हुए । उन्होंने कहा कि गीता प्रेस ने पूरे विश्व और देश में धर्म की खुशबू फैलाई है।

आगंतुक पुस्तिका में उन्होंने लिखा है कि गीता प्रेस गोरखपुर अपनी कार्य अवधि का शताब्दी वर्ष मनाने जा रहा है और इसने संस्कृति और राष्ट्रवाद के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है, यह देश के लिए प्रेरणादायक है।

सं जफर

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)