देश की खबरें | भाजपा विधायक के घुटने तोड़ने की टिप्पणी पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रामधुन गाते हुए प्रदर्शन किया

भोपाल, 24 नवंबर भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा द्वारा कांग्रेसियों के घुटने तोड़ने वाले हाल ही के विवादास्पद बयान पर राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बुधवार को रामधुन गाकर मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल स्थित उनके (शर्मा) घर के पास प्रदर्शन किया।

दिग्विजय ने यहां मिंटो हॉल परिसर स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद सैकड़ों पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ शर्मा के घर की ओर रामधुन गाते हुए कूच किया, लेकिन पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को आधे रास्ते में ही रोक लिया। शर्मा का घर मिंटो हॉल से करीब एक किलोमीटर दूर है।

इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ता अपने हाथों में बैनर लिए हुए थे, जिनमें लिखा था, ‘‘रामेश्वर शर्मा जी हम आ गये हैं, आप हमारे घुटने तोड़ो।’’

मालूम हो कि भोपाल की हुजूर सीट के भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा ने शहर के रातीबड़ क्षेत्र के कलखेड़ा गांव में हाल ही में कहा था, ‘‘कांग्रेस का इधर कोई आए तो उसके घुटने तोड़ दो। दलालों को नो एंट्री। दलाली नहीं करने देंगे, तभी नगर सुरक्षित रहेगा। दिग्विजय सिंह आए, कुछ करके गए क्या?’’

रामेश्वर के इस बयान का वीडियो वायरल हो गया था। इस पर कांग्रेस नेताओं ने आपत्ति जताई थी, जिसके बाद दिग्विजय ने भी उनके बयान पर ट्वीट कर कहा था, ‘‘मैं कांग्रेसी हूं। जिसमें ताकत हो तो मेरे घुटने तोड़ दे। मैं गांधीवादी हूं। हिंसा का जवाब अहिंसा से दूंगा। 24 नवंबर को मैं महात्मा गांधी की मूर्ति से रामेश्वर शर्मा के घर जाऊंगा। उनके घर जाकर प्रभु से उन्हें सदबुद्धि देने के लिए एक घंटे तक रामधुन करूंगा।’’

हालांकि, शर्मा ने बाद में स्पष्ट किया कि उन्होंने यह टिप्पणी 20 करोड़ रुपये की सरकारी जमीन के बारे में की थी जिसे कलखेड़ा गांव के एक सरपंच ने बेच दिया था। उन्होंने यह भी आरोप लगाया था कि दिग्विजय इस सरपंच को बचा रहे हैं।

दिग्विजय के ट्वीट के बाद शर्मा ने अपने घर को पूरी तरह से राम के रंग में रंग दिया और वहां मंगलवार से ही रामधुन बजने लगी और रामचरित मानस गाये जाने लगा। दिग्विजय एवं अन्य प्रदर्शनकारियों के लिए हलवा और पूड़ी की व्यवस्था की गई और उनके स्वागत की पूरी तैयारी की गई।

दिग्विजय के अपने घर पर नहीं पहुंचने पर शर्मा ने मीडिया से कहा, ‘‘मैं भगवान राम के भक्तों का स्वागत करूंगा। वह (दिग्विजय) रामधुन में कैसे आ सकते है? जिन्दगी भर उन्होंने (दिग्विजय) राम का विरोध किया है। उन पर राम की कृपा नहीं। उन्हें भगवान भी अपने चरणों में नहीं आने देता।’’

वहीं, प्रदर्शनकारियों को पुलिस द्वारा आधे रास्ते में रोक दिये जाने पर दिग्विजय ने प्रदर्शन स्थल पर मीडिया से कहा, ‘‘कांग्रेस प्रेम, अहिंसा एवं सदभाव से काम करती है, वैमनस्य से नहीं। जब-जब भाजपा डरती है, पुलिस को आगे करती है।’’

उन्होंने कहा कि यह हिंसा पर अहिंसा की जीत है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं के घुटने तोड़ने वाले भाजपा विधायक ने कॉंग्रेसियों के सामने घुटने टेके हैं। पहले घुटने तोड़ने की बात कर रहे थे, अब हलवा खिलवा रहे हैं।

एक अधिकारी ने कहा कि पुलिस ने किसी अप्रिय घटना से बचने के लिए शर्मा के घर की ओर जाने वाली सभी सड़कों पर बैरिकेड लगा दिए थे।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)