देश की खबरें | बिहार में छह साल में इंटरनेट उपयोगकर्ताओं की संख्या 4.91 गुना बढ़ी है : रविशंकर
एनडीआरएफ/प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credits: ANI)

पटना, 15 सितंबर केंद्रीय विधि और न्याय, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी और संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मंगलवार को कहा कि बिहार में 10-12 पंचायतों को छोड़ दें तो पूरे राज्य के 8,743 ग्राम पंचायतों में इंटरनेट का उपयोग हो रहा है।

बिहार विधानसभा चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा नमामि गंगे परियोजना और अमृत मिशन के तहत विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास किया गया।

यह भी पढ़े | Lok Sabha passes Bill reducing MPs’ salary By 30%: लोकसभा से सांसदों की 30 फीसदी वेतन कटौती वाला बिल पास.

इस ऑनलाइन समारोह में बिहार के संदर्भ में रविशंकर ने कहा, "2014-15 में 4.2 करोड़ मोबाइल फोन थे, जो अगस्त 2020 में बढ़कर 6.21 करोड़ हो गए हैं। 2014-15 में इंटरनेट उपयोगकर्ताओं की संख्या 80 लाख थी, जो अब 3.93 करोड़ हो गई है।"

केन्द्रीय मंत्री ने जिन 10-12 पंचायतों तक इंटरनेट सेवा पहीं पहुंची है, वहां वनों के कारण सिग्नल पहुंचाने में दिक्कत हो रही है, लेकिन सरकार प्रयासरत है।

यह भी पढ़े | COVID-19 Vaccine Update: ICMR के महानिदेशक बलराम भार्गव बोले- सीरम इंस्टीट्यूट जल्द ही देश में शुरु करेगी कोरोना वैक्सीन के तीसरे चरण का ट्रायल.

उन्होंने कहा कि राज्य में लगभग 35,000 कॉमन सर्विस सेंटर हैं, जिन्होंने डाक सेवा के साथ-साथ कोविड अवधि के दौरान गरीब लोगों तक करोड़ों रुपये पहुंचाए।

राज्य में 1.25 लाख करोड़ रुपये के पैकेज और रेल आधारभूत संरचना के विकास की बात करते हुए रविशंकर ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री कहते रहे हैं कि समावेशी विकास के लिए देश के हर क्षेत्र का विकास आवश्यक है जिसमें पूर्वी भारत और उत्तर पूर्वी भारत भी शामिल हैं। देश के बड़े पूर्वी राज्यों में शामिल बिहार का विकास भारत के विकास के लिए महत्वपूर्ण है।’’

पटना साहिब लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से सांसद रविशंकर ने प्रांतीय राजधानी में बेउर और करमलीचक में दो जल-मल शोधन संयंत्रों के उद्घाटन पर खुशी जाहिर की।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)