विदेश की खबरें | विदेशी हस्तक्षेप से बड़ा खतरा डाक मतपत्रः ट्रंप

वाशिंगटन, 17 सितंबर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि राष्ट्रपति पद के चुनाव में कथित विदेशी हस्तक्षेप से बड़ा खतरा डाक मतपत्र हैं, क्योंकि इनसे बड़े स्तर पर चुनावी धांधली की आशंका है।

तीन नवंबर को होने वाले राष्ट्रपति पद के चुनाव से पहले डेमोक्रेटिक पार्टी के शासन वाले राज्यों के गवर्नर लोगों को मतदान केंद्र जाने के बजाए डाक मतपत्र के जरिए मतदान करने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं।

यह भी पढ़े | COVID19 Pandemic Worldwide Update: वैश्विक स्तर पर कोरोना के आंकड़े 2.97 करोड़ के पार, अब तक 939,427 लोगों की हुई मौत.

ट्रंप की दलील है कि ऐसे कदम से चुनावी धांधली हो सकती है,क्योंकि इसमें कोई किसी और के बदले भी वोट डाल सकता है। हजारों मत पत्र गायब हो सकते हैं।

वहीं, डेमोक्रेटिक पार्टी का कहना है कि यह स्थापित चलन है और कोरोना वायरस के मद्देनजर डाक मतपत्र से मतदान के विकल्प को चुनने की जरूरत है।

यह भी पढ़े | Russia to Supply Sputnik-V Vaccine to Dr. Reddy’s Laboratories: कोरोना संकट के बीच अच्छी खबर, भारत की कंपनी डॉक्टर रेड्डी लैब को मिलेगी रूस में विकसित कोरोना वैक्सीन.

ट्रंप ने व्हाइट हाउस में पत्रकारों से कहा, "इस चुनाव में हमारा सबसे बड़ा खतरा विपक्षी पार्टी के गवर्नर हैं जो मत पत्रों को नियंत्रित कर रहे हैं। मेरे लिए अन्य देशों से बड़ा खतरा यह है, क्योंकि अन्य देशों के बारे में जो चीजें आ रही हैं वह झूठी निकल रही हैं। "

उन्होंने कहा कि मत पत्र चुराए जाएंगे। कौन जानता है कि वे कहां जा रहे हैं? कौन जानता है कि वे कहां से आ रहे हैं? यह हमारे लोकतंत्र के लिए गंभीर खतरा है।

राष्ट्रपति ने आरोप लगाया कि यह कदम डेमोक्रेटिक पार्टी किसी मकसद के तहत उठा रही है और वे जानते हैं कि यह गलत है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)