देश की खबरें | भट्टादेव विश्वविद्यालय का रजिस्ट्रार ठेकेदार से रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार

गुवाहाटी, छह अगस्त असम के भट्टादेव विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार डॉ गुरुप्रसाद खटानियार को यहां एक ठेकेदार से 50,000 रुपये की रिश्वत लेने के आरोप में शनिवार को गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने यह जानकारी दी।

सतर्कता और भ्रष्टाचार निरोधक निदेशालय को राज्य के लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) में सूचीबद्ध एक ठेकेदार से शिकायत मिली थी कि खटानियार ने बजली जिले के पाठशाला में भट्टादेव विश्वविद्यालय में मिट्टी भरने के कार्य का बिल जारी करने के लिए उससे 1,00,000 रुपये की रिश्वत की मांग की थी। बाद में, ठेकेदार ने राशि को घटाकर 50,000 रुपये कर दिया।

पुलिस ने बताया कि ठेकेदार ने प्राथमिकी में आरोप लगाया था कि पीडब्ल्यूडी भवन, पाठशाला के कार्यकारी अभियंता ने मिट्टी भरने के काम के लिए 32,00,000 रुपये का एक बिल (मासिक आधार पर तैयार किया गया बिल) तैयार किया था और उसे रजिस्ट्रार को भेज दिया था।

पुलिस ने बताया कि शिकायतकर्ता रिश्वत नहीं देना चाहता था, इसलिए रजिस्ट्रार के खिलाफ आवश्यक कानूनी कार्रवाई करने के लिए उसने राज्य सतर्कता और भ्रष्टाचार निरोधक निदेशालय का दरवाजा खटखटाया।

पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया कि इसी के तहत शनिवार को खटानियार को शहर के चांदमारी इलाके में शिकायतकर्ता से 50 हजार रुपये लेते रंगे हाथ पकड़ लिया।

पुलिस ने खटानियार के कब्जे से रिश्वत की रकम बरामद कर ली है।

प्रवक्ता ने बताया कि रजिस्ट्रार के खिलाफ एसीबी पुलिस थाने में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम, 1988 (2018 में संशोधित) की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)