यूक्रेन पर रूसी हमले में दो बच्चों समेत 8 की मौत
प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credit: Image File)

यूक्रेन पर रूस के हमले में 8 लोगों की मौत हुई है जिनमें दो बच्चे भी शामिल हैं. यूक्रेन का दावा है कि उसने हमला करने वाले बमवर्षक विमान को मार गिराया है. रूसी हमला दनिप्रोपत्रोव्स्क इलाके में हुआ.शुक्रवार सुबह दनिप्रो शहर और उसके आपास के इलाकों में कई मिसाइलें दागी गईं जिनसे कई रिहायशी इमारतों और मुख्य ट्रेन स्टेशन को नुकसान पहुंचा. इस हमले में कम से कम 28 आम लोग घायल भी हुए हैं. मरने वालों में 8 साल की एक लड़की और 14 साल का एक लड़का शामिल है.

रूस ने लंबी दूरी के मिसाइलों से हमला तेज कर दिया है. हाल के हफ्तों में यूक्रेन के ऊर्जा तंत्र और दूसरे ठिकानों को निशाना बना कर रूस दबाव बढ़ा रहा है जिससे कि यूक्रेन को मोर्चे से दूर किया जा सके. पूर्वी दिशा में रूसी सेना धीरे धीरे आगे बढ़ रही है.

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने सहयोगी देशों से एयर डिफेंस सिस्टम की तत्काल मांग की है. पश्चिमी देशों की सैन्य सहायता में कमी आने के कारण यूक्रेन के पास हथियारों के स्टॉक में कमी आने की बात कही जा रही है.

जेलेंस्की का कहना है, "रूस को उसके आतंक के लिए निश्चित रूप से जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए, हर मिसाइल और हर शाहेद (ड्रोन) को मार गिराया जाना चाहिए. दुनिया इसकी गारंटी दे सकती है और हमारे सहयोगियों के पास जरूरी क्षमता है."

रूसी बमवर्षक विमान गिराने का दावा

यूक्रेनी एयर फोर्स और सैन्य गुप्तचर एजेंसी के कमांडर ने कहा है कि यूक्रेनी सेना ने एक रूसी टीयू-22एम3 बमवर्षक विमान को मार गिराया है, जिसने यूक्रेन पर मिसाइलें दागी गई थीं. यूक्रेन युद्ध शुरू होने के बाद पहली बार ऐसे किसी बमवर्षक विमान को निशाना बनाने का दावा किया गया है. यूक्रेनी कमांडर का कहना है कि यह बमवर्षक विमान रूसी वायुसीमा में यूक्रेनी सीमा से 300 किलोमीटर दूर था.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स को सूत्रों से जानकारी मिली है कि यूक्रेन ने एस-200 एयर डिफेंस मिसाइल का इस्तेमाल किया था. हालांकि यह पता नहीं चल सका है कि इसे कहां से फायर किया गया. एस-200 सोवियत जमाने का सतह से हवा में मार करने वाला लंबी दूरा का मिसाइल सिस्टम है. सोशल मीडिया पर ऐसे तस्वीरें दिखी हैं जिनमें एक विमान में आग लगी है और वह गोता खा कर नीचे गिर रहा है. हालांकि इन तस्वीरों की स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं हो सकी है.

रूसी रक्षा मंत्रालय का कहना है कि बमवर्षक विमान रूस के दक्षिणी स्ताव्रोपोल इलाके में गिर गया. यह जगह यूक्रेन के नियंत्रण वाले इलाके से सैकड़ों किलोमीटर दूर है. रूसी सेना के मुताबिक विमान युद्धक अभियान को पूरा करने के बाद अपने अड्डे पर लौट रहा था. हालांकि उनका कहना है कि यह घटना तकनीकी वजहों से हुई है. रूसी एयरफोर्स के चार क्रू सदस्य विमान से इजेक्ट कर गए. इनमें से दो को बचा लिया गया, एक की मौत हो गई और चौथे को बचाने के लिए अभियान जारी है.

यूक्रेन को जी7 का आश्वासन

इटली के कापरी में जी7 देशों के विदेशमंत्रियों की बैठक में यूक्रेन की वायु सुरक्षा क्षमता को मजबूत करने का वादा किया गया है. बैठक के बाद जी7 की तरफ से जारी बयान में कहा है कि यूक्रेन की मदद के लिए "सभी संभव रास्तों और विकल्पों" पर विचार किया जा रहा है. इसके लिए रूस की जब्त संपत्तियों को भी इस्तेमाल करने के रास्ते भी ढूंढे जा रहे हैं.

अमेरिका, इटली, जर्मनी, फ्रांस, ब्रिटेन, जापान और कनाडा के विदेश मंत्रियों की बैठक में युद्ध पर चर्चा के लिए यूक्रेन के विदेश मंत्री भी शामिल हुए. कापरी में यूक्रेनी विदेश मंत्री दिमित्रो कुलेबा भी पहुंचे और जर्मनी की मदद का जिक्र करते हुए बाकी देशों से भी मदद की गुहार लगाई. जर्मनी ने यूक्रेन को और पैट्रियट मिसाइल डिफेंस सिस्टम देने के वादा किया है. जर्मनी दो पैट्रियट मिसाइल डिफेंस सिस्टम यूक्रेन को पहले ही दे चुका है.

यूक्रेन का कहना है कि रूसी मिसाइलों और ड्रोन को मार गिराने में उसके पास हथियारों की कमी हो रही है. रूस ने हमले तेज कर दिए हैं और यूक्रेन के बुनियादी ढांचे को निशाना बना रहा है.

एनआर/आरपी (रॉयटर्स, एएफपी)