दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए शनिवार को संपन्न हुए मतदान में दिल्लीवासियों ने आम आदमी पार्टी (आप) को जबरदस्त तरीके से समर्थन दिया.  सभी जाति, उम्र व आय वर्ग के मतदाताओं ने 'आप' के पक्ष में मतदान किया, लेकिन मुस्लिम समुदाय का वोटिंग पैटर्न जोरदार रहा.  आईएएनएस-सीवोटर एग्जिट पोल के नतीजों के अनुसार, मुस्लिम समुदाय के 60 फीसदी मतदाताओं ने 'आप' के पक्ष में मतदान किया जोकि भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस को समुदाय के मिले वोटों का तकरीबन दोगुना है.

मुंबई से सटे ठाणे के अंबरनाथ  स्थित एक फैक्ट्री में लाग लगी है. आग पर काबू पाने के लिए दमकल विभाग की गाड़ियां घटना स्थल पर पहुंच चुकी हैं. आग पर काबू पाने की कोशिश की जा रही है

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020: रात 10: 17 तक 61.43% पड़े वोट

दिल्ली में आम आदमी पार्टी (आप) की सरकार ने रणनीति के तहत पुरुष, महिला, युवा, ग्रामीण, शहरी, अगड़ा व पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक, स्थानीय और प्रवासी, हर वर्ग के मतदाताओं को जो सौगात बांटी उसका बड़ा फायदा विधानसभा चुनाव में मिलता दिख रहा है.  दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए मतदान शनिवार को संपन्न हुआ,

दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए शनिवार को हुए मतदान में रात 9.30 बजे तक के आंकड़ों के मुताबिक, 60.10 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया। चुनाव आयोग के वोटर टर्नआउट एप के आंकड़े से यह जानकारी मिली है

दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए शनिवार को हुए मतदान में रात आठ बजे तक 58.40 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया है. चुनाव आयोग के वोटर टर्नआउट एप के आंकड़े से यह जानकारी मिली है.

दिल्ली विधानसभा चुनाव नतीजों की जहां तक बात है, बीजेपी के लिए कोई बड़ी राहत नहीं मिलने वाली है, लेकिन आईएएनएस-सीवोटर एग्जिट पोल के अनुसार पार्टी पिछले विधानसभा चुनाव की तुलना में इस बार अपनी स्थिति मजबूत कर पाने में सफल हुई है। एग्जिट पोल के अनुसार, 2015 में भाजपा को जहां केवल तीन सीटें ही मिली थीं, इसबार उसे संभवत: पांच से 19 के बीच सीटें मिल सकती हैं. (इनपुट आईएएनएस)

दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए शनिवार को हो रहे मतदान में शाम छह बजे तक 54.65 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया है.चुनाव आयोग के वोटर टर्नआउट एप के आंकड़े से यह जानकारी मिली है.

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020: वोटिंग खत्म

दिल्ली विधानसभान चुनाव 2020: शाम 5 बजे तक हुआ 44.52% मतदान

Load More

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 (Delhi Assembly Elections 2020) के लिए शनिवार को वोट डाले जाएंगे. दिल्ली की जनता आज उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेगी. दिल्ली में सत्ता की कुर्सी के लिए जनता ने किसे चुना है इसका फैसला 11 फरवरी को होगा. दिल्ली की 70 सदस्यीय विधानसभा सीटों पर करीब 668 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं, जिनके भविष्य का फैसला आज EVM में कैद हो जाएगा. चुनाव को लेकर दिल्ली वासियों में खासा उत्साह देखने को मिल रहा है. सुबह से ही मतदान केंद्रों पर लोग कतारों में दिख रहे हैं.

दिल्ली विधानसभा चुनाव में एक तरफ जहां आम आदमी पार्टी अपने काम के दम पर सत्ता में वापस आने की गारंटी दे रही है तो दूसरी तरफ बीजेपी (BJP) भी जीत का दांव ठोक रही है. कांग्रेस में सत्ता वापसी के लिए जद्दोजहत कर रही है. साल 2015 के विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने दिल्ली की 70 में से 67 सीटें जीती थीं, जबकि बीजेपी को 3 सीटें मिली थीं. कांग्रेस को इस चुनाव में एक भी सीट नहीं मिली थी.

यह भी पढ़ें- दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020: इन 5 सीटों पर होगा सबसे दिलचस्प मुकाबला, दिग्गजों की साख लगी है दांव पर.

इस चुनाव में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी, बीजेपी और कांग्रेस तीनों पार्टियों ने ताबड़तोड़ प्रचार किया. आम आदमी पार्टी अपने 5 सालों के काम को लेकर चुनावी मैदान में उतरी तो वहीं बीजेपी की तरफ से खुद पीएम नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ समेत कई बड़े दिग्गजों के साथ प्रचार-प्रसार में उतरी.

अब देखना यह होगा कि दिल्ली की जनता अगले पांच साल फिर अरविंद केजरीवाल को देती है या बीजेपी और कांग्रेस में से कोई दिल्ली वासियों का दिल जीतने में कामयाब होती है. दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजे 11 फरवरी मंगलवार को आने हैं. दिल्ली चुनाव में सीएम अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया, बीजेपी के विजेंद्र गुप्ता जैसे कई दिग्गज चुनावी मैदान में हैं.