Nagpur Shocking Incident: बालसुधार गृह से फरार 3 नाबालिग लडकियों को नागपुर पुलिस ने पकड़ा, वार्डन को रूम में बंद करके ट्रिपल सीट एक्टिवा से छत्तीसगढ़ से पहुंची थी शहर
Representational Image

Nagpur Shocking Incident:  छत्तीसगढ़ से तीन नाबालिग लड़कियां जो की बालसुधार गृह से भागी थी. इन्हें नागपुर में पुलिस ने पकड़ा है. तीनों लड़कियां दुपहिया वाहन से नागपुर तक पहुंची थी. इन तीन में से दो आरोपी लड़कियों पर हत्या का आरोप है तो वही एक चोरी के आरोप में सुधारगृह में थी.

जानकारी के मुताबिक़ लकड़गंज के वर्धमाननगर चौक में पुलिस कांस्टेबल वैशाली दुरुगकर और पूजा ड्यूटी पर थी. इसी दौरान उन्हें बिना नंबर प्लेट की एक्टिवा गाड़ी पर तीन लडकियां बिना हेलमेट के नजर आई. इस दौरान उन्हें रोका गया और और उनसे पूछताछ की गई. लेकिन उन्होंने कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया. इसके बाद लडकियों को पुलिस स्टेशन ले जाया गया. ये भी पढ़े :Student Dies of Heart Attack: स्कूल में चलते-चलते अचानक गिरा दसवीं का छात्र, हार्ट अटैक से मौत; CCTV में कैद हुई घटना

इसके बाद इन लडकियों ने जानकारी देते हुए बताया की 5 जुलाई को रात को छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव के बालसुधार गृह से वे भागी थी. उन्होंने बालसुधार गृह की वार्डन और महिला पुलिस को एक रूम में बंद किया और मोबाइल, दुपहिया वाहन और कुछ कैश लेकर वहां से फरार हुई. इन तीनों लडकियों पर गंभीर अपराध के मामले दर्ज है.

इन तीन लड़कियों में से दो लड़कियों पर मर्डर का तो वही एक लड़की पर चोरी का आरोप है. नाबालिग होने कि वजह से उन्हें बालसुधार गृह में रखा गया था. 5 जुलाई की रात को रूम में आगे लगने की झूठी बात बताकर लड़कियों ने शोर मचाना शुरू कर दिया. इससे पहले उन्होंने कमरे में ऑइल डाला था. महिला वार्डन के आते ही इन लोगों ने उसे कमरे में बंद कर दिया और दरवाजा बाहर से लगा दिया. दो साल के बच्चे के साथ वार्डन रूम में बंद थी. इसके बाद वो खिड़की तोड़कर बाहर आई.

पुलिस ने जब इन लड़कियों को पकड़ा और गाड़ी के डॉक्यूमेंट दिखाने के लिए कहा तो डॉक्यूमेंट लाकर देते है, ऐसा इन लड़कियों ने कहा. यहां तक की ट्रैफिक पुलिस को पैसे देने के लिए भी ये लड़कियां तैयार हो गई थी. इसके बाद पुलिस ने एक लड़की की मां से बात की , तब पूरी घटना के बारे में पुलिस को पता चला.