जम्मू-कश्मीर: सुरक्षाबलों ने पुलवामा के मुर्रन गांव को किया सील, कई आतंकियों के छुपे होने का संदेह- सर्च ऑपरेशन जारी
इंडियन आर्मी (Photo Credits: PTI/File)

श्रीनगर: जम्मू और कश्मीर (Jammu and Kashmir) के पुलवामा (Pulwama) में रविवार को सुरक्षाबलों ने खुफिया सूचना के आधार पर सघन सर्च ऑपरेशन (Search Operation) शुरू किया है. बताया जा रहा है कि सुरक्षाबलों को यहां एक गांव में कुछ आतंकियों के छिपे होने का संदेह है. जिसके बाद घर-घर तलाशी ली जा रही है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सुरक्षाबलों को दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले के मुर्रन गांव (Murran village) में आतंकवादियों की मौजूदगी के बारे में गुप्त सूचना मिली. जिसके बाद इलाके को सील कर तलाशी अभियान शुरू किया गया. फिलहाल कितने आतंकी छिपे है, इसकी जानकारी नहीं मिल सकी है. जम्मू-कश्मीर: पुंछ में पाकिस्तान का संघर्ष विराम उल्लंघन, सेना ने दिया मुंहतोड़ जवाब

बताया जा रहा है कि डोर टू डोर तलाशी अभियान में सेना, राज्य पुलिस और एसओजी के जवान शामिल है. मुर्रन गांव के अंदर और बाहर जाने वाले सभी रास्तों को बंद कर दिया गया है. हर स्थिति से निपटने के लिए अतिरिक्त सुरक्षाबलों को मंगाया गया है. फिलहाल गोलीबारी की जानकारी नहीं है.

उल्लेखनीय है कि बीते 31 जनवरी को पुलिस ने जम्मू के बाहरी इलाके नगरोटा में तीन विदेशी आतंकियों को ले जा रहे ट्रक के चालक की पहचान की. आतंकियों की मदद करने वाला यह व्यक्ति पुलवामा के आत्मघाती हमलावर आदिल डार का चचेरा भाई समीर डार है.

आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के तीन आतंकियों को ले जा रहे एक ट्रक को जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित एक टोल प्लाजा पर पुलिस ने रोका. इसके बाद शुरू हुई मुठभेड़ में तीनों आतंकी मारे गए जबकि कार्रवाई के दौरान एक पुलिसकर्मी घायल हो गया. जबकि ड्राइवर और क्लीनर समेत आतंकियों के तीन सहयोगियों को गिरफ्तार कर लिया गया. मारे गए आतंकियों के पास से वायरलेस सेट सहित भारी मात्रा में हथियार और गोला बारूद मिले.