विदेश की खबरें | संयुक्त राष्ट्र ने युद्धग्रस्त अफगानिस्तान के लिए 1.3 अरब डॉलर की सहायता की मांग की

संयुक्त राष्ट्र, 13 जनवरी संयुक्त राष्ट्र ने दशकों लंबे संघर्ष, कई प्राकृतिक आपदाओं और कोविड-19 महामारी से प्रभावित अफगानिस्तान में जीवन-रक्षक उपाय की आवश्यकता के मद्देनजर लगभग 1.6 करोड़ लोगों की सहायता के लिए 1.3 अरब डालर की मांग की है।

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने कहा कि सहायता की जरुरत वाले लोगों की संख्या चार साल पहले की तुलना में छह गुना अधिक है, जब 23 लाख लोगों को सहायता की जरुरत थी।

उन्होंने सोमवार को कहा, "यह अनुमान लगाया गया है कि पांच साल से कम उम्र के दो बच्चों में से लगभग एक को इस साल गंभीर कुपोषण का सामना करना पड़ेगा।"

दुजारिक ने कहा कि भुखमरी बढ़ रही है" क्योंकि लोगों ने अपनी आजीविका खो दी है।

उन्होंने कहा कि 2021 में, अफगानिस्तान की लगभग आधी आबादी को जीवित रहने के लिए मानवीय सहायता की आवश्यकता होगी।

मानवीय मामलों के समन्वय के लिए संयुक्त राष्ट्र कार्यालय (ओसीएचए) के अनुसार, पूरे अफगानिस्तान में लगभग 1.84 करोड़ लोगों को सहायता की आवश्यकता है। कोरोना वायरस महामारी के प्रकोप के साथ पिछले साल यह संख्या तेजी से बढ़ी है।

अफगानिस्तान के लिए मानवतावादी समन्वयक पार्वती रामास्वामी ने एक मानवीय प्रतिक्रिया योजना को पेश करते हुए कहा, "संकट के दौरान, लोग तेजी से हताश हो रहे हैं। अपनी बेटियों की कम उम्र में शादी करने और अपने बच्चों को काम पर भेजने व अपनी आजीविका चलाने के लिए ऋण और अन्य खतरनाक उपाय का सहारा ले रहे हैं।"

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)