विदेश की खबरें | अमेरिकी विदेश मंत्री से अफगानिस्तान को लेकर कांग्रेस में कड़े सवाल

वाशिंगटन, 14 सितंबर अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन से अफगानिस्तान से अमेरिका के निकलने की बाइडन प्रशासन की योजना को लेकर लगातार दूसरे दिन कड़े सवाल पूछे गए। इस योजना की राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर काफी आलोचना हुई है।

मंगलवार को सीनेट की विदेश संबंध समिति के सामने पेश हुए ब्लिंकन से सांसदों ने अनेक अमेरिकी नागरिकों, ग्रीन कार्ड धारकों को अफगानिस्तान में छोड़े जाने और उस देश में फंसे अफगानों के सामने पैदा हुए खतरों के बारे में सवाल किये गए।

समिति के दो शीर्ष सदस्यों, न्यूजर्सी से डेमोक्रेटिक पार्टी के सदस्य बॉब मेनेंडेज और इडाहो से रिपब्लिकन पार्टी के सांसद जेम्स रिस्च दोनों ने अपने शुरुआती भाषण में इस वापसी को पराजय करार दिया।

समिति के अध्यक्ष मेनेंडेज ने कहा कि वापसी ''स्पष्ट रूप से घातक और त्रुटिपूर्ण थी।''

मेनेंडेज आमतौर पर राष्ट्रपति जो बाइडन की विदेश नीति का समर्थन करते रहे हैं। लेकिन इस बार उन्होंने विदेश नीति के कई पहलुओं पर सवाल उठाए।

रिस्च ने कहा, ''वापसी निराशाजनक विफलता थी।''

ब्लिंकन ने फिर से ट्रंप प्रशासन को, तालिबान के साथ फरवरी 2020 के शांति समझौते के लिए दोषी ठहराया। उन्होंने कहा कि बाइडेन के हाथ बंधे थे। इसके अलावा अफगान सरकार और सुरक्षा बलों के त्वरित और अप्रत्याशित पतन के कारण 15 तालिबान ने अफगानिस्तान पर नियंत्रण कर लिया।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)