जरुरी जानकारी | विवाद से विश्वास योजना के तहत घोषणा करने वालों के लिये भुगतान को लेकर 31 मार्च तक का समय

नयी दिल्ली, 28 अक्टूबर आयकर विभाग ने बुधवार को कहा कि प्रत्यक्ष कर विवाद समाधान योजना- विवाद से विश्वास के तहत घोषणा करने वाले करदाताओं को भुगतान करने को लेकर 31 मार्च तक का समय होगा।

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने योजना के संदर्भ में स्पष्टीकरण जारी किया है। इसमें कहा गया है कि पहले करदाताओं को नामित प्राधकरण से घोषणा प्रमाणपत्र प्राप्त होने के 15 दिनों के भीतर भुगतान करने की जरूरत थी। वो अब लागू नहीं होगा।

यह भी पढ़े | उत्तर प्रदेश: ब्लैकमेलिंग से परेशान लड़की ने की खुदकुशी.

सीबीडीटी के अनुसार करदाताओं के लिये कठिनाई को कम करने के लिये यह कदम उठाया गया है।

उसने कहा, ‘‘यह स्पष्ट किया जाता है कि विवाद से विश्वास योजना के तहत अगर करदाता 31 दिसंबर, 2020 को या उससे पहले घोषणा करता है, नामित प्राधिकरण योजना (विवाद से विश्वास) की धारा 5 की उप-धारा (I) के तहत प्रमाणपत्र जारी करते हुए घोषणा करने वाले को बिना अतिरिक्त राशि के 31 मार्च, 2020 या उससे पहले जमा करने की अनुमति देंगे।’’

यह भी पढ़े | केन्द्र ने जम्मू कश्मीर औद्योगिक विकास निगम की स्थापना के लिये जारी की अधिसूचना.

सरकार ने मंगलवार को प्रत्यक्ष कर विवाद समाधान योजना के तहत भुगतान करने की समयसीमा 31 मार्च, 2021 तक बढ़ा दी। यह तीसरा मौका है जब योजना के तहत भुगतान की समयसीमा बढ़ायी गयी है।

नांगिया एंडरसन एलएलपी के भागीदार संदीप झुनझुनवाला ने कहा कि इस स्पष्टीकरण से उन करदाताओं को बड़ी राहत मिली है, जो महामारी के कारण ‘लॉकडाउन’ से प्रभावित हुए और नकदी समस्या से जूझ रहे हैं।

उन्होंने कहा कि अब इन करदाताओं पर प्रमाणपत्र की प्राप्ति के बाद भुगतान में देरी को लेकर जुर्माना नहीं लगाया जाएगा। पर उन्हें 31 मार्च, 2021 या उससे पहले भुगतान करना होगा।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)