देश की खबरें | जम्मू में आतंकी घटनाओं के मद्देनजर सुरक्षा को लेकर समीक्षा की गई

जम्मू, 15 मई पुंछ में भारतीय वायुसेना के काफिले पर हाल ही में हुए आतंकी हमलों के मद्देनजर जम्मू क्षेत्र में आतंकवाद विरोधी अभियानों पर ध्यान आकर्षित करने के साथ एक संयुक्त सुरक्षा समीक्षा बैठक की गई। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

अधिकारियों ने बताया कि जम्मू स्थित 16वीं कोर (इसे व्हाइट नाइट कोर के नाम से भी जाना जाता है) के जनरल ऑफिसर कमांडिंग (जीओसी) लेफ्टिनेंट जनरल नवीन सचदेवा ने बैठक की अध्यक्षता की। इस बैठक में जम्मू क्षेत्र के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक आनंद जैन और खुफिया एजेंसियों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

व्हाइट नाइट कोर ने बैठक के बाद सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर पोस्ट कर कहा, ‘‘क्षेत्र की सुरक्षा और स्थिरता सुनिश्चित करने तथा जारी आतंकवाद विरोधी अभियानों के समन्वय के लिए एक मजबूत प्रतिबद्धता के साथ चर्चा संपन्न हुई।’’

इस बैठक को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि यह बैठक चार मई को पुंछ के सुरनकोट इलाके में सनाई टॉप के पास भारतीय वायु सेना (आईएएफ) के काफिले पर हुए एक बड़े आतंकवादी हमले की पृष्ठभूमि में हो रही है। इस हमले में एक जवान शहीद हो गया था और चार अन्य घायल हो गए थे।

आतंकवादियों ने 22 अप्रैल को राजौरी के शाहदरा इलाके के कुंडा टॉप गांव में एक सरकारी कर्मचारी मोहम्मद रजाक और 28 अप्रैल को उधमपुर के बसंतगढ़ इलाके में ग्राम रक्षा समूह के एक सदस्य मोहम्मद शरीफ की भी हत्या कर दी थी।

सुरक्षा समीक्षा बैठक राजौरी और पुंछ जिलों में लोकसभा चुनावों के मद्देनजर भी महत्वपूर्ण है। ये दोनों जिले अनंतनाग निर्वाचन क्षेत्र का हिस्सा हैं जहां 25 मई को मतदान होना है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)