जरुरी जानकारी | पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस की कारलायले से 4,000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना पर नियामकों की नजर

नयी दिल्ली, 14 जून पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस में अमेरिका की निजी इक्विटी कंपनी कारलायले और अन्य द्वारा 4,000 करोड़ रुपये का निवेश किये जाने पर भारतीय रिजर्व बैंक के साथ ही पूंजी बाजार नियामक सेबी की नजर है। इस निवेश को लेकर दोनों नियामक विभिन्न नियामकीय मुद्दों को देख रहे हैं।

इसके निदेशक मंडल ने पिछले महीने ही कारलायले समूह कंपनियों और अन्य कंपनियों को तरजीही शेयर और परिवर्तनीय वारंट जारी कर 4,000 करोड़ रुपये तक जुटाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है।

सूत्रों का कहना है अल्पांश शेयरधारकों, कार्पोरेट संचालन और अन्य नियामकीय पहलुओं की दृष्टि से रिजर्व बैंक और भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) इस पर गौर कर रहे हैं।

रिजर्व बैंक ने इस साल की शुरुआत में पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के अपनी इस अनुषंगी में पूंजी डालने के प्रस्ताव को खारिज कर दिया था। पीएनबी राइट इश्यू के जरिये पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस में पूंजी डालना चाह रहा था लेकिन बैंक की वित्तीय स्थिति को ध्यान में रखते हुये आरबीआई ने अनुमति नहीं दी।

पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस की कारलायले तथा अन्य के साथ प्रस्तावित निवेश प्रस्ताव पर पीएनबी के प्रबंध निदेशक एवं सीईओ एस एस मल्लिकार्जुन राव ने इस माह की शुरुआत में कहा था कि बैंक न तो कोई निवेश कर रहा है और न ही अपनी हिस्सेदारी को बेच रहा है लेकिन अन्य स्रोतों से होने वाले निवेश के कारण उसकी हिस्सेदारी घटकर 21 प्रतिशत के आसपास आ सकती है।

पीएनबी की वर्तमान में एक प्रवर्तक के तौर पर पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस में हिस्सेदारी 32.64 प्रतिशत है। पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस की 22 जून को असाधारण आम सभा की बैठक बुलाई गई है। इस बैठक में कालाइल और अन्य निवेश फर्मों को तरजीही आधार पर शेयरों के आवंटन तथा अन्य प्रसतावों पर शेयरधारकों की मंजूरी ली जायेगी।

बहरहाल, पीएनबी हाउंसिंग फाइनेंस के निदेशक मंडल में शामिल निदेशकों के इस निवेश के मामले में हितों के टकराव की भी रिपोर्टें हैं। उसके कुछ निदेशकों के कालायले के साथ प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष संबंध होने की रिपोर्टें हैं।

इस बीच कारलाइल समूह तथा अन्य कंपनियों ने सोमवार को पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस में 26 प्रतिशत इक्विटी अधिग्रहण के लिये सात करोड़ से अधिक शेयरों को खरीदने के लिये एक ‘‘मसौदा पेशकश पत्र’’ जारी किया है। यह पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस में तरजीही इश्यू के जरिये 4,000 करोड़ रुपये का निवेश करने के प्रस्ताव का हिस्सा है।

सेबी नियमों के मुताबिक किसी भी सूचीबद्ध कंपनी में यदि कोई निवेशक 25 प्रतिशत से अधिक शेयरों का अधिग्रहण करता है तो उसे उसके शेयरधारकों के समक्ष अनिवार्य रूप से खुली पेशकश करनी होती है। खुली पेशकश के लिये प्रति शेयर 403.22 रुपये का मूल्य तय किया गया है।

प्लूटो इन्वेस्टमेंट्स एसएआरएल ने सलिसबुरी इनवेस्टमेंट्स, कारलाइल एशिया के पार्टनर आईवी एस सी एसपी, कारलाइल एशिया पार्टनर्स वी, एस सी एसपी, क्वालिटी इन्वेस्टमेंट होल्डिंग्स और सीएपी आईवी एआईवी मारीशस आदि ने मिलकर पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस में सात करोड़ 07 लाख 93 हजार 011 शेयरों के लिये पेशकश की है।

पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस का शेयर सोमवार को कारोबार की समाप्ति पर पांच प्रतिशत गिरकर 776.85 रुपये पर बंद हुआ।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)