देश की खबरें | मुंडका अग्निकांड: केजरीवाल ने जांच का आदेश दिया, मुआवजे की घोषणा की

नयी दिल्ली, 14 मई दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मुंडका अग्निकांड घटना की शनिवार को मजिस्ट्रेट जांच का आदेश दिया जिसमें कम से कम 27 व्यक्तियों की मौत हो गई। केजरीवाल ने साथ ही इमारत में आग लगने की घटना में मारे गए व्यक्तियों के परिजनों को दस-दस लाख रुपये की अनुग्रह राशि और घायलों को पचास-पचास हजार रुपये देने की घोषणा की।

केजरीवाल ने उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और गृह मंत्री सत्येंद्र जैन के साथ स्थिति का जायजा लेने के लिए घटनास्थल का दौरा किया। उन्होंने कहा कि दोषियों को न्याय के कठघरे में लाया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने मृतकों एवं घायलों के परिजनों से भी मुलाकात की।

केजरीवाल ने कहा ‘‘मुंडका में हुई त्रासदी से मैं अत्यंत दुखी हूं। हम सभी जितना संभव हो उतने लोगों को बचाने की कोशिश कर रहे हैं। आग इतनी विनाशकारी थी कि कुछ शवों की पहचान करना मुश्किल हो गया है। हमने उन लोगों की सहायता करने के लिए घटनास्थल पर एक हेल्पडेस्क स्थापित किया है जो लोगों के लापता होने की जानकारी दर्ज करा रहे हैं।’’

मुख्यमंत्री ने कहा कि शवों की पहचान एफएसएल डीएनए जांच से की जाएगी।

उन्होंने कहा, ‘‘हालांकि कोई भी राशि किसी के जीवन के नुकसान की भरपाई नहीं कर सकती, सहयोग के तौर पर दिल्ली सरकार सभी मृतकों के परिजनों को दस-दस लाख रुपये की अनुग्रह राशि प्रदान करेगी। साथ ही, घायलों को भी पचास-पचास हजार रुपये की सहायता प्रदान की जाएगी।’’

केजरीवाल ने घोषणा की कि घटना की मजिस्ट्रेट जांच का आदेश दे दिया गया है। उन्होंने साथ ही इस बात पर जोर दिया कि सरकार दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा देगी।

उन्होंने कहा, ‘‘दो मुख्य आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। यह एक भयावह घटना है और दिल्ली सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि दोषियों को न्याय के कठघरे में लाया जाए। जांच रिपोर्ट आने के बाद, चाहे कोई व्यक्ति हो, अधिकारी हो या एजेंसी हो, किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा।’’

शुक्रवार को चार मंजिला इमारत में आग लगने से कम से कम 27 लोगों की मौत हो गई और 12 अन्य घायल हो गए। पुलिस के अनुसार, 29 लोग अभी भी लापता बताए जा रहे हैं, जबकि दमकल विभाग के अधिकारियों ने कहा कि उन्हें शनिवार को कुछ जले हुए अवशेष मिले और मरने वालों की संख्या बढ़ने की आशंका है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)