देश की खबरें | नहरों से अवैध पानी निकासी तत्काल बंद करने का मंत्री का निर्देश

चंडीगढ़, 14 मई पंजाब के जल संसाधन मंत्री ब्रह्म शंकर जिंपा ने शनिवार को अपने विभाग के अधिकारियों से राज्य की विभिन्न नहरों में पानी की अवैध निकासी तत्काल बंद करने का निर्देश दिया और कहा कि सभी किसानों को सिंचाई के पानी का भी समान वितरण सुनिश्चित करना जरूरी है।

जिंपा ने शुक्रवार की रात जलालाबाद और फाजिल्का जिलों में विभिन्न नहरों का निरीक्षण करने तथा विभिन्न स्थानों पर पानी की अवैध निकासी का पता चलने के बाद ये निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि नहर से कोई भी अवैध निकासी किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने आगे कहा कि अवैध पाइप लगाकर या किसी अन्य तरीके से पानी चुराने में शामिल व्यक्तियों के खिलाफ कानून के अनुसार कठोर कार्रवाई की जाएगी।

एक आधिकारिक विज्ञप्ति में शनिवार को बताया गया कि औचक निरीक्षण के दौरान विधायक जगदीप कंबोज गोल्डी, नरिंदर पाल सिंह सावना, अमनदीप सिंह गोल्डी मुसाफिर और फाजिल्का के उपायुक्त हिमांशु अग्रवाल और जिला पुलिस प्रमुख भूपिंदर सिंह सिद्धू भी मौजूद थे।

मंत्री ने नहर के अंदर जाकर अवैध पानी निकासी का निरीक्षण किया और कहा कि राज्य में शासन प्रणाली बदल गई है।

जिंपा ने कहा, ‘‘अब पंजाब के आम लोगों की सरकार है, इसलिए पानी की चोरी करने वाले प्रभावशाली लोगों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की जानी चाहिए और ऐसे सभी अवैध निकासी को जल्द से जल्द बंद किया जाना चाहिए, ताकि अंतिम छोर के जरूरतमंद किसानों को नहर के पानी का पर्याप्त लाभ मिल सके।’’

मंत्री ने इस अवसर पर किसानों को आश्वस्त किया कि अवैध निकासी को बंद करने और नहरों की समय-समय पर सफाई करने से किसानों को पर्याप्त पानी मिलेगा।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)