देश की खबरें | वन क्षेत्रों में पर्यावरण पर्यटन केंद्र विकसित करेगी गोवा सरकार

पणजी, 14 मई गोवा सरकार राज्य के वन क्षेत्रों और पार्कों में पर्यावरण पर्यटन केंद्रों का विकास करेगी। राज्य के वन एवं पर्यावरण मंत्री विश्वजीत राणे ने यह जानकारी दी।

राणे ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा कि वन विभाग के अधिकारियों के साथ पर्यावरण पर्यटन (ईको-टूरिज्म) के विकास और राज्य में वन्यजीव अभयारण्यों के बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए विचार-विमर्श किया गया।

मंत्री ने कहा,‘‘वन विभाग के अधिकारियों के साथ चर्चा के बाद, हमने वन क्षेत्रों और वन पार्कों के भीतर वन पर्यावरण पर्यटन के विकास पर जोर देने का फैसला किया है। हम डॉ सलीम अली पक्षी अभयारण्य, बोंडला वन्यजीव अभयारण्य के बुनियादी ढांचे में सुधार करेंगे तथा जंगल के शिविर क्षेत्र (कैम्पिंग एरिया) आदि तैयार करेंगे।”

उन्होंने कहा, “हम इन सभी कार्यों को विशेषज्ञों के मार्गदर्शन में करेंगे ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि लोग वन पार्कों में दिलचस्पी रखें और वहां जाएं। जंगलों में शिविर क्षेत्रों के निर्माण को प्राथमिकता दी जाएगी। हम पूरी तरह से एक नया पारिस्थितिकी तंत्र बनाएंगे ताकि हम पार्क के भीतर जानवरों को देख सकें।’’

गौरतलब है कि अपने मनोरम एवं खूबसूरत समुद्री किनारों के कारण पर्यटकों के बीच बेहद लोकप्रिय गोवा में छह वन्यजीव अभ्यारण्य और एक राष्ट्रीय उद्यान है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)