देश की खबरें | विदेश मंत्री जयशंकर ने भूटान और बांग्लादेश के अपने समकक्षों के साथ की द्विपक्षीय वार्ता

नयी दिल्ली, 11 जुलाई विदेश मंत्री एस जयशंकर ने बृहस्पतिवार को बांग्लादेश और भूटान के समकक्षों के साथ अलग-अलग भेंटवार्ता की और विविध क्षेत्रों में द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ाने के तौर-तरीकों पर चर्चा की।

बंगाल की खाड़ी बहु-क्षेत्रीय तकनीकी और आर्थिक सहयोग पहल (बिम्सटेक) के सदस्य देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक से इतर ये भेंटवार्ताएं हुईं।

बांग्लादेश के विदेश मंत्री हसन महमूद के साथ अपनी भेंटवार्ता के बाद जयशंकर ने ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, ‘‘ आज शाम नई दिल्ली में बांग्लादेश के विदेश मंत्री डॉ हसन महमूद से मिलकर खुशी हुई। लगातार उच्च स्तरीय विनिमय भारत-बांग्लादेश मैत्री की ताकत को दर्शाता है। इसे और प्रगाढ़ करने के तौर-तरीकों पर चर्चा हुई।’’

भूटान के विदेश मंत्री डी एन धुंग्येल के साथ अपनी बातचीत के बारे में जयशंकर ने कहा कि भारत और भूटान के बीच मित्रता एवं सद्भावना के अनूठे संबंधों को आगे ले जाने पर विचारों का आदान-प्रदान किया गया।

उन्होंने लिखा, ‘‘बिम्सटेक बैठक के अवसर पर भूटान के विदेश मंत्री डी एन धुंग्येल के साथ भेंटवार्ता कर प्रसन्नता हुई। मित्रता और सद्भावना के हमारे अनूठे संबंधों को आगे बढ़ाने पर विचारों का आदान-प्रदान किया।’’

विदेश मंत्री ने श्रीलंका के विदेश राज्य मंत्री थारका बालासूरिया के साथ भी बैठक की।

जयशंकर ने 'एक्स' पर कहा, ‘‘बिम्सटेक के विदेश मंत्रियों की बैठक के दौरान श्रीलंका के विदेश राज्य मंत्री थारका बालासूरिया का स्वागत कर प्रसन्नता हुई। हमारी द्विपक्षीय साझेदारी पर चर्चा हुई।’’

भारत के अलावा बिम्सटेक में श्रीलंका, बांग्लादेश, म्यांमार, थाईलैंड, नेपाल और भूटान शामिल हैं।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)