देश की खबरें | गुजरात में चार दिनों में कोविड-19 दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने वालों से 3.63 करोड़ रुपये का जुर्माना वसूला गया
एनडीआरएफ/प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credits: ANI)

अहमदाबाद, 13 जनवरी गुजरात पुलिस ने आठ से 11 जनवरी के बीच कोविड-19 संबंधी दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने वाले लोगों से 3.63 करोड़ रुपये का जुर्माना वसूला है। अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी।

राज्य में सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं पहनने का जुर्माना 1,000 रुपये है।

राज्य पुलिस ने एक विज्ञप्ति में कहा कि कोविड-19 संबंधी दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने के लिए आठ से 11 जनवरी तक हर दिन औसतन करीब 9,000 लोगों पर जुर्माना लगाया गया।

पुलिस ने कहा, "36,510 लोगों से चार दिनों में 3.63 करोड़ रुपये का जुर्माना वसूला गया, जो बिना मास्क या सार्वजनिक स्थलों पर थूकते हुए पाए गए।"

विज्ञप्ति में कहा गया कि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए प्रशासन द्वारा जारी किए गए विभिन्न निर्देशों का पालन नहीं करने को लेकर भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत 1,763 प्राथमिकी भी दर्ज की गईं।

चूंकि गुजरात के चार प्रमुख शहरों- अहमदाबाद, राजकोट, वडोदरा और सूरत में रात्रिकालीन कर्फ्यू (रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक) लागू है, पुलिस ने 8 से 11 जनवरी के बीच रात में घूमते हुए 2,944 लोगों को गिरफ्तार किया।

विज्ञप्ति के अनुसार, इस अवधि के दौरान कर्फ्यू उल्लंघन के लिए 3,117 वाहनों को जब्त किया गया है।

इस बीच, गुजरात के पुलिस महानिदेशक आशीष भाटिया ने राज्य के सभी जिलों और शहरों के सभी पुलिस अधिकारियों को कोविड-19 रोकथाम के लिए निर्धारित मानक संचालन प्रक्रिया और दिशानिर्देशों को सख्ती से लागू करने के लिए कहा है।

उन्होंने उनसे यह भी सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि लोग मास्क पहनें और सामाजिक दूरी बनाए रखें।

डीजीपी ने संबंधित अधिकारियों को नियमित गश्त करने और उल्लंघनकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए अतिरिक्त बल तैनात करने का भी निर्देश दिया है।

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, गुजरात में मंगलवार को कोविड-19 के 602 नए मामले आने के साथ कुल मामले 2,53,161 हो गए हैं। राज्य में अब तक इस बीमारी से 4,350 लोगों की मौत हो चुकी है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)