देश की खबरें | जलवायु पर विकासशील देशों की कार्रवाई वित्त, तकनीकी हस्तांतरण के वितरण पर निर्भर: यादव

नयी दिल्ली, 14 मई केंद्रीय पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव ने शनिवार को कहा कि विकासशील देशों द्वारा जलवायु संबंधी कार्यों का महत्वाकांक्षी क्रियान्वयन जलवायु वित्त, प्रौद्योगिकी हस्तांतरण और अन्य सहायता के पर्याप्त वितरण पर निर्भर है।

जलवायु परिवर्तन पर ब्रिक्स की उच्च स्तरीय बैठक में भाग लेते हुए मंत्री ने जलवायु परिवर्तन को संयुक्त रूप से संबोधित करने, कम कार्बन और बदलाव में तेजी लाने के लिए दृष्टिकोण तलाशने तथा स्थायी प्रतिपूर्ति एवं विकास के लिए मंच की प्रासंगिकता पर प्रकाश डाला।

ब्रिक्स उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता चीन के पारिस्थितिकी और पर्यावरण मंत्री हुआंग रनकिउ ने की और इसमें ब्रिक्स के भागीदार देशों ब्राजील, रूस, भारत और दक्षिण अफ्रीका के पर्यावरण मंत्रियों ने हिस्सा लिया। यादव ने मजबूत जलवायु कार्रवाई के लिए भारत की प्रतिबद्धता को रेखांकित किया, जिसमें सावधानीपूर्वक खपत और कचरे में कमी के आधार पर स्थायी जीवन शैली को बढ़ावा देना शामिल है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत अक्षय ऊर्जा, स्थायी वास, अतिरिक्त वन और वृक्षों के आवरण के माध्यम से ‘कार्बन सिंक’ के निर्माण, टिकाऊ परिवहन के लिए बदलाव, ई-मोबिलिटी, निजी क्षेत्र को गोलबंद कर जलवायु प्रतिबद्धताओं के क्षेत्र में कई मजबूत कदम उठाकर मिसाल कायम कर रहा है। यादव ने भारत द्वारा ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन से निपटने के लिए उठाए गए कदमों का उल्लेख किया।

उन्होंने कहा, ‘‘विकासशील देशों द्वारा जलवायु कार्यों का महत्वाकांक्षी क्रियान्वयन जलवायु वित्त, प्रौद्योगिकी हस्तांतरण और अन्य उपाय समर्थन के महत्वाकांक्षी और पर्याप्त वितरण पर निर्भर है, जैसा कि यूएनएफसीसी (जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र फ्रेमवर्क कन्वेंशन) और पेरिस समझौते द्वारा अनिवार्य है।’’

मंत्री ने सीओपी 26 अध्यक्ष कार्यालय द्वारा जारी ग्लासगो निर्णय और जलवायु वित्त वितरण योजना के अनुसार जलवायु वित्त के वितरण के प्रति आशावाद व्यक्त किया। ब्रिक्स के पर्यावरण मंत्रियों ने जलवायु परिवर्तन पर सहयोग को मजबूत करने और सहयोग की सामग्री को व्यापक और गहरा करने की प्रतिबद्धता व्यक्त की। देशों ने पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन के क्षेत्रों में नीतिगत आदान-प्रदान और सहयोग करने पर भी सहमति व्यक्त की।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)