देश की खबरें | भारतीय पशु चिकित्सा संघ की मानहानि याचिका पर मेनका गांधी रुख स्पष्ट करें : उच्च न्यायालय

नयी दिल्ली, 14 मई दिल्ली उच्च न्यायालय ने भाजपा सांसद मेनका गांधी से भारतीय पशु चिकित्सा संघ (आईवीए) द्वारा उनके खिलाफ दायर मानहानि के मामले पर अपना रुख स्पष्ट करने को कहा है।

न्यायमूर्ति अमित बंसल ने पशु अधिकार कार्यकर्ता गांधी को समन जारी किया और उनके खिलाफ दायर याचिका पर 30 दिन में लिखित जवाब देने को कहा।

याचिका में अदालत से मेनका गांधी को पशु चिकित्सकों के खिलाफ ‘अपमानजनक’ टिप्पणी करने से रोकने के लिए स्थायी आदेश जारी करने का भी अनुरोध किया गया है।

अदालत ने 10 मई को दिए अपने आदेश में कहा, ‘‘इसके अनुरूप शिकायत को वाद के तौर पर पंजीकृत करने दिया जाए। प्रतिवादी (मेनका गांधी) को सभी माध्यमों से समन भेजा जाए। समन मिलने के 30 दिनों के भीतर प्रतिवादी लिखित में बयान दाखिल करे।’’

देश में पशु चिकित्सकों की शीर्ष संस्था होने का दावा करने वाले वादी का पक्ष वरिष्ठ अधिवक्ता सुनील मित्तल ने रखा। उन्होंने कहा कि प्रतिवादी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता के खिलाफ यह याचिका आईवीए के सदस्यों के उत्पीड़न, उन्हें नुकसान पहुंचाने, अवैध तरीके से धन मांगने और अपमानजनक टिप्पणी करने के लिए दायर की गई है।

इस मामले पर अब अगली सुनवाई चार अगस्त को होगी।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)