देश की खबरें | खेतड़ी खदान हादसे में हिंदुस्तान कॉपर के मुख्य सतर्कता अधिकारी की मौत, 14 लोगों को बचाया

जयपुर, 15 मई राजस्थान के नीम का थाना जिले में हिंदुस्तान कॉपर लिमिटेड (एचसीएल) की खेतड़ी स्‍थ‍ित एक खदान में लिफ्ट की रस्सी टूटने से उसमें फंसे 15 लोगों में से 14 को बुधवार को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया जबकि हादसे में मुख्य सतर्कता अधिकारी उपेंद्र कुमार पांडे की मौत हो गई। पुलिस ने बुधवार को यह जानकारी दी।

यह हादसा मंगलवार रात को उस समय हुआ जब करीब 8:00 बजे निरीक्षण के दौरान लिफ्ट की केबल टूटने से लिफ्ट नीचे गिर गई और उसमें सवार 15 व्यक्ति फंस गए।

कई घंटे चले बचाव अभियान में बुधवार दोपहर तक चौदह लोगों को बाहर निकाल लिया गया। इन्हें अलग अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।

पुलिस ने कहा कि एचसीएल की कोलकाता से आई सतर्कता टीम और अन्य लोगों को मंगलवार रात एक पिंजरा (कैज) के जरिए शाफ्ट से नीचे उतारा जा रहा था, तभी इसकी केबल टूट गई, जिससे वे 1,875 फुट की गहराई पर फंस गए।

राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) के अतिरिक्त महानिदेशक अनिल पालीवाल ने बताया कि खेतड़ी स्थित हिंदुस्तान कॉपर लिमिटेड की कोलिहान खदान में हुए हादसे कारण उसमें फंसे 15 व्यक्तियों में से 14 को एसडीआरएफ व कंपनी की बचाव टीम ने अभियान चला सुरक्षित बाहर निकाल लिया, लेकिन कंपनी के मुख्य सतर्कता अधिकारी उपेंद्र कुमार पांडे का शव बरामद किया गया। पांडे ने पिछले साल जून में एचसीएल के मुख्य सतर्कता अधिकारी का कार्यभार संभाला था।

एचसीएल ने एक बयान में कहा, ''14 मई को शाम करीब 7.30 बजे राजस्थान के खेतड़ी नगर स्थित खेतड़ी कॉपर कॉम्प्लेक्स (एचसीएल की एक इकाई) की कोलिहान तांबा खदान में एक हादसा हुआ।''

इसमें कहा गया कि हादसे में एक व्यक्ति की मौत हो गई और 14 अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए। कंपनी हालात को सामान्य कर खदान में परिचालन फिर से शुरू करने के लिए सभी कदम उठा रही है।

दिल्ली में खान सचिव वीएल कांता राव ने कहा कि घटना की जांच के आदेश दिये जाएंगे।

राव ने संवाददाताओं से कहा, "मैं कुछ महीने पहले उसी लिफ्ट में था। सब कुछ अच्छा था... हम जांच कराएंगे और पता लगाएंगे कि क्या हुआ।"

एसडीआरएफ के अतिरिक्त महानिदेशक पालीवाल ने बताया कि एसडीआरएफ तथा कॉपर लिमिटेड के बचाव दल ने मंगलवार देर रात लगभग तीन बजे संयुक्त बचाव अभियान शुरू किया।

टीम कमांडर रवि वर्मा नौ जवानों तथा हिंदुस्तान कॉपर लिमिटेड के बचाव टीम को लेकर दूसरी लिफ्ट एवं ‘रेस्क्यू रोप’ की सहायता से घायलों तक पहुंचे।

पुलिस ने बताया कि सबसे पहले गंभीर रूप से घायलों को प्राथमिक उपचार दिया गया और ‘इंप्रोवाइज्ड स्ट्रेचर’ और ‘रेस्क्यू रोप’ की मदद से उन्हें 64 मीटर स्तर पर बेस तक लाया गया और फिर खदान के वाहनों से बाहर निकालकर एंबुलेंस के जरिए अस्पताल भिजवाया गया।

पुलिस ने बताया सबसे पहले बचाव टीमों ने तीन गंभीर घायलों को बाहर निकाला। उसके बाद पांच व्यक्तियों को और अंत में सभी सात व्यक्तियों को बाहर निकाल कर अस्पताल भिजवाया। साथ ही मुख्‍य सतर्कता अध‍िकारी उपेंद्र कुमार पांडे के शव को बाहर निकाला गया।

इस अभियान में बचाव टीम ने केसीसी इकाई प्रमुख जीडी गुप्ता, कोलिहान खदान उप महाप्रबंधक एके शर्मा, वरिष्ठ प्रबंधक विद्युत विनोद सिंह शेखावत, सहायक उप महाप्रबंधक मैकेनिक एके बेरा, मुख्य प्रबंधक खदान अर्णय भंडारी, सहायक उप महाप्रबंधक यशोराज मीणा, सहायक उप महाप्रबंधक विजिलेंस वी.भंडारी, फोटोग्राफर विकास पारीक, वरिष्ठ प्रबंधक (अनुसंधान) निरंजन साहू, सुरक्षा अधिकारी करण सिंह, प्रबंधक प्रीतम सिंह, वरिष्ठ प्रबंधक खदान रमेश नारायण सिंह एवं कर्मचारी हरसी राम तथा भागीरथ को निकालने में सफलता हासिल की है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)