भारत का दौरा टाल चीन क्यों पहुंचे मस्क
प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credit: Image File)

भारत का दौरा टालने के बाद टेस्ला के सीईओ इलॉन मस्क रविवार को अचानक चीन पहुंच गए.टेस्ला के सीईओ इलॉन मस्क रविवार को अचानक चीन के दौरे पर पहुंच गए. वहां उन्होंने चीन के प्रधानमंत्री से मुलाकात की. इससे पहले मस्क को भारत आना था लेकिन उन्होंने यात्रा टाल दी.

चीनी सरकारी मीडिया ने बताया कि मस्क ने बीजिंग में प्रधानमंत्री ली कियांग से मुलाकात की. इस बीच ली कियांग ने इलॉन मस्क से कहा कि चीन में टेस्ला के विकास को अमेरिका-चीन आर्थिक और व्यापारिक सहयोग का एक सफल उदाहरण माना जा सकता है.

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बाद ली कियांग देश के दूसरे सबसे ताकतवर नेता हैं. मस्क ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर एक पोस्ट के जरिए प्रधानमंत्री के साथ अपनी मुलाकात की पुष्टि की.

चीनी प्रधानमंत्री से मुलाकात

मस्क ने ली कियांग के साथ एक तस्वीर पोस्ट की और लिखा, "प्रीमियर ली कियांग से मिलना सम्मान की बात है. हम एक-दूसरे को कई सालों से जानते हैं, शंघाई के शुरुआती दिनों से."

टेस्ला ने 2018 में शंघाई में एक प्लांट के लिए चीन के साथ सौदा किया था, जो अमेरिका के बाहर उसका पहला सौदा था. अमेरिकी इलेक्ट्रिक कार निर्माता टेस्ला ने चार साल पहले अपने ऑटोपायलट सॉफ्टवेयर का सबसे स्वायत्त संस्करण, फुल सेल्फ-ड्राइविंग या एफएसडी पेश किया था, लेकिन ग्राहकों की मजबूत मांग के बावजूद यह अभी भी चीन में उपलब्ध नहीं है जो विश्व स्तर पर सबसे बड़ा बाजार.

इलॉन मस्क ने इस महीने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर एक सवाल के जवाब में कहा था कि टेस्ला "बहुत जल्द" चीन में ग्राहकों के लिए एफएसडी उपलब्ध करा सकता है. दूसरी ओर प्रतिद्वंद्वी चीनी वाहन निर्माता भी इसी तरह का सॉफ्टवेयर विकसित करके टेस्ला से आगे निकलने की कोशिश कर रहे हैं.

मस्क टाल चुके हैं भारत का दौरा

मस्क की चीन यात्रा उनकी भारत की प्रस्तावित यात्रा रद्द होने के एक सप्ताह बाद हो रही है. नई दिल्ली में उनका प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने का कार्यक्रम था.

उन्होंने सोशल मीडिया पर अपनी यात्रा रद्द करने की घोषणा करते हुए कहा कि "टेस्ला की भारी जिम्मेदारियों के कारण" उन्हें ऐसा करना पड़ा. हालांकि, उन्होंने कहा था कि वह इस साल किसी समय भारत का दौरा करेंगे.

इससे पहले कंपनी ने कहा कि इस महीने वह अपने वैश्विक कार्यबल के 10 प्रतिशत को हटा देगी क्योंकि उसे कारों की बिक्री में गिरावट और इलेक्ट्रिक कारों की चीनी कंपनियों के साथ मूल्य-युद्ध जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है.

चीन के सरकारी चैनल सीसीटीवी ने यह नहीं बताया कि ली कियांग के साथ इलॉन मस्क की बैठक में एफएसडी या विदेश में डाटा ट्रांसफर पर चर्चा हुई या नहीं. डाटा ट्रांसफर से वे अपने टेस्ला के एफएसडी एल्गोरिद्म को ट्रेन करेंगे और उसे बेहतर बनाने पर काम करेंगे.