एयरपोर्ट पर यात्रियों का तनाव दूर करते थेरेपी डॉग्स
प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credit: Image File)

यात्रियों के बीच यात्रा के तनाव को कम करने के लिए तुर्की के इस्तांबुल एयरपोर्ट पर ट्रेंड थेरेपी कुत्तों की एक टीम तैनात की गई है. तनावग्रस्त यात्री इन कुत्तों के साथ वक्त बिताकर अपना तनाव दूर कर सकते हैं.दुनिया के सबसे व्यस्त हवाईअड्डों में से एक इस्तांबुल हवाईअड्डे ने पांच नई नियुक्तियां की हैं. एयरपोर्ट पर यात्रियों के यात्रा तनाव को दूर करने के लिए ये तैनाती की गई है, लेकिन ये अहम काम इंसानों की बजाय ट्रेंड कुत्ते करेंगे.

ये कुत्ते थेरेपी देने के लिए सर्टिफाइड, इंसानों को आराम देने के लिए पेशेवर रूप से ट्रेंड और तैयार किए गए हैं.

एयरपोर्ट पर कुत्तों का क्या काम

जो यात्री एयरपोर्ट से विमान में चढ़ने के बीच में बेचैनी महसूस करते हैं, उनकी नसों को शांत करने के लिए इन कुत्तों की सेवा उपलब्ध है. यात्री इन कुत्तों को सहला सकते हैं, उनको गले लगा सकते हैं और चूम सकते हैं.

इस्तांबुल एयरपोर्ट के कस्टमर एक्सपीरियंस मैनेजर कादिर दिमिरतास कहते हैं, "हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि ये कुत्ते सुरक्षित हों और सभी प्रकार के वातावरण के अनुकूल हों. वे अपने परिवेश से 100 प्रतिशत परिचित हैं."

"थेरेपी डॉग टीम" फरवरी के आखिर से ड्यूटी पर तैनात है. एयरपोर्ट पर तैनाती से पहले इन्हें कई महीनों की ट्रेनिंग दी गई. उन्हें एयरपोर्ट के माहौल से परिचित कराया गया ताकि वे किसी आवाज से डरे नहीं और यात्रियों के साथ अच्छा बर्ताव करे.

पायलट प्रोजेक्ट को बढ़ाने पर विचार

इन कुत्तों के टीम लीडर का नाम कुकी है जो इटालियन नस्ल "लागोटो रोमाग्नोलो" से ताल्लुक रखता है. यह कुत्ता बहुत मेहनती है लेकिन अपने काम के दौरान ब्रेक लेना पसंद करता है और अक्सर आराम करना पसंद करता है. कुत्तों की इस प्रशिक्षित टीम के पशुचिकित्सक ने कहा कि यह अच्छा है कि हर एक कुत्ता अपनी मर्जी से काम के घंटों के दौरान ब्रेक ले सकता है.

एयरपोर्ट पर ये कुत्ते अपने संचालकों के साथ नियमित वर्दी और बैज में देखे जाते हैं और उनके काम का समय सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक है.

एयरपोर्ट अधिकारियों का कहना है कि यात्रियों से मिले पॉजिटिव फीडबैक के बाद कंपनी इस प्रोजेक्ट का विस्तार करना चाहती है.

एए/वीके (एपी)