Gujarat: अहमद पटेल हुए पैतृक गांव में सुपुर्द-ए-खाक, राहुल गांधी समेत कई नेता रहे मौजूद
अहमद पटेल हुए सुपुर्द-ए-खाक ( फोटो क्रेडिट- ANI)

गांधीनगर:- कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल (Ahmed Patel) का बुधवार को निधन हो गया. अहमद पटेल का गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में इलाज चल रहा था. कोरोना संक्रमित होने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था. निधन के बाद अहमद पटेल को गुजरात (Gujarat) के भरूच (Bharuch) जिले के उनके पैतृक गांव में सुपुर्द-ए-खाक कर दिया गया. अहमद पटेल की इच्छा थी कि वह अपने माता-पिता की कब्रों के साथ पिरमान गांव में दफन हो जाएं. इस दौरान कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) समेत कई दिग्गज नेता मौजूद रहे.

बता दें कि अहमद पटेल के पार्थिव शरीर को बुधवार शाम वड़ोदरा हवाईअड्डे पर उतारा गया, जहां से उन्हें पिरमान गांव ले जाया गया. हवाई अड्डे पर गुजरात कांग्रेस के अधिकांश शीर्ष नेता मौजूद थे. वहीं, कोविड-19 के कारण सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए एक बड़े मैदान में सामूहिक नमाजे जनाजा की मंजूरी दे दी गई है. गुजरात कांग्रेस के अधिकांश सदस्य और राजनेता अंतिम संस्कार में उपस्थित रहें. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अहमद पटेल के निधन पर व्यक्त किया शोक, कहा- कांग्रेस के स्तंभ थे जो मुश्किल दौर में पार्टी के साथ खड़े रहे.

ANI का ट्वीट:- 

गौरतलब हो कि कांग्रेस में अहमद पटेल का कद बेहद उंचा था. कई बार कांग्रेस के लिए अहमद पटेल संकट मोचक बनकर सामने आए थे. 71 साल के अहमद पटेल तीन बार लोकसभा के सदस्य रहे हैं. इसके साथ अहमद पटेल 5 बार राज्यसभा के सांसद रहे हैं. अहमद पटेल पहली बार राजनीति में 26 साल की उम्र कदम रखा था. अहमद पटेल ने साल 1977 में पहली बार लोकसभा का चुनाव जीता था. अहमद पटेल गांधी परिवार के सबसे करीबी नेताओं में गिने जाते थे.