Assembly Elections 2021 :अगले साल इन राज्यों में होगी मोदी-राहुल की टक्कर, इन पांच दिग्गजों नेताओं की किस्मत होगी दांव पर
पीएम मोदी और राहुल गांधी (Photo Credit-File/PTI)

नई दिल्ली:- साल 2021 में देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होना है. इन चुनाव में जीत के लिए तमाम सियासी दलों ने अभी से अपनी रणनीति बनानी शुरू कर दी है. साला 2021 में जिन पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होना है. उनमें तमिलनाडु (Tamil Nadu), पश्चिम बंगाल (West Bengal), केरल (Kerala) असम (Assam) और पुडुचेरी (Puducherry) का नाम शामिल है. तमाम दल अपनी सत्ता को काबिज रखने की हर मुमकिन कोशिश करने में जुट गई है. पश्चिम बंगाल में टीएमसी की सरकार है. जबकि केरल में लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट, पुडुचेरी में कांग्रेस, तमिलनाडु में AIADMK और असम में भारतीय जनता पार्टी की सत्ता है. इसमें बीजेपी सभी राज्यों में अपनी जीत का परचम लहरना चाहती है.

बता दें कि पश्चिम बंगाल में इस वक्त ममता बनर्जी की सरकार और बीजेपी की तरफ से गृहमंत्री अमित शाह ने मोर्चा संभाल रखा है. बीजेपी पश्चिम बंगाल में मिशन 200 लेकर उतरी है. इस दरम्यान कई तृणमूल कांग्रेस के कई विधायक और नेताओं को बीजेपी अपने पाले में लेकर आ चुकी है. वहीं ममता बनर्जी के सामने सबसे बड़ी चुनौती है कि वो अपना गढ़ और अपने नेताओं को कैसे टूटने से रोकें. वैसे सियासत में हर नेता अपनी दाव ऐसा चलता है कि विरोधी दल को पटखनी मिल जाए. केरल विधानसभा ने केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्ताव किया पारित, दिल्ली में किसान प्रदर्शन जारी.

जबकि केरल की अगर बात करें तो वहां पर लेफ्ट की सरकार सत्ता में हैं. लेकिन इस बार लेफ्ट की राह इतनी आसान नहीं होगी. क्योंकि बीजेपी ने यहां पर भी चाल चल दी है. पिछली बार लेफ्ट गठबंधन एलडीएफ ने 140 मे से 91 सीटों पर जीत हासिल करने के बाद सरकार बनाई थी. लेकिन इस बार कई ऐसे मुद्दे हैं जिसे लेकर बीजेपी और अन्य दल सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है.

वहीं, असम में बीजेपी की सरकार है. साल 2016 में बीजेपी ने जीत दर्ज कर सरकार बनाई थी. जिसके बाद सर्वानंद सोनोवाल को अपना मुख्यमंत्री बनाने का फैसला लिया गया था. साल 2021 में तमिलनाडु में भी विधानसभा चुनाव होने हैं. जहां पर AIADMK और DMK मैदान में हैं. इस राज्य पर भी बीजेपी की नजर है. इसके साथ ही इस कयास लगाया जा रहा है कि साउथ के दो बड़े स्टार कमल हासन और रजनीकांत दोनों भी सियासी अखाड़े में उतर सकते हैं. फिलहाल अभी इन दो नामों को लेकर सस्पेंस बरकरार है. उसके अलावा पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव होना है. पुडुचेरी कांग्रेस और डीएमके की सरकार है.