26 जनवरी से पहले बड़े आतंकी हमले की फिराक में था दविंदर सिंह के साथ पकड़ा गया हिजबुल आतंकी नवीद, DIA ने किया खुलासा
सुरक्षाबलों की प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credit-PTI)

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के निलंबित डीएसपी के दविंदर सिंह (Davinder Singh) के साथ गिरफ्तार किए गए हिजबुल मुजाहिद्दिन के आतंकवादी को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है. सुरक्षा एजेंसियों के अनुसार, निलंबित डीएसपी दविंदर सिंह के साथ पकड़ा गया हिजबुल का आंतकी गणतंत्र दिवस समारोह से पहले एक बड़े आतंकी हमले की फिराक में था. दविंदर सिंह को हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकवादी नवीद बाबू और एक अन्य आतंकवादी के साथ 11 जनवरी को गिरफ्तार किया गया था, उस समय दविंदर सिंह दोनों आतंकियों के साथ जम्मू से बाहर जा रहा था.

हिंदुस्तान टाइम्स ने बताया कि डिफेंस इंटेलिजेंस एजेंसी (DIA) द्वारा साझा किए गए इनपुट के अनुसार, हिजबुल का आंतकी नवीद बाबू पुलवामा में विस्फोटक पहुंचाने की फिराक में था, जिसके जरिए उसके ग्रुप ने 26 जनवरी को होने वाले गणतंत्र दिवस समारोह से पहले एक बड़े आतंकी हमले को अंजाम देने की योजना बनाई थी. राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) जो घाटी में आंतकी नवीद बाबू और अन्य आतंकवादी ऑपरेटरों के साथ दविंदर सिंह के संबंधों की जांच कर रही है.

घाटी को दहलाने की फिराक में था आतंकी नवीद 

नवीद बाबू अपने सहयोगियों को विस्फोटक विस्फोटक देने वाला था, आतंकियों ने पुलवामा के पास नीवा-पखेरपोरा मार्ग पर एक इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (IED) लगाने की योजना बनाई थी. एजेसियों द्वारा आतंकी नवीद को "मास्टर टेरर रिक्रूटर" और "आईईडी एक्सपर्ट" बताया गया है. वह घाटी में आतंकियों की भर्ती के लिए काम करता था.

यह भी पढ़ें- जम्मू-कश्मीर: कुलगाम में हिजबुल और लश्कर के दो आतंकियों के साथ सीनियर पुलिस अधिकारी गिरफ्तार.

हिजबुल का दूसरा इन-कमांड

नवीद बाबू आतंकी रियाज निकू के बाद बाबू हिजबुल का दूसरा इन-कमांड है. आतंकी नवीद बाबू ने घाटी से अनुच्छेद 370 को हटाने के बाद, कश्मीर में स्थानीय लोगों को कश्मीर से बाहर निकालने और कश्मीर के सेब उद्योग को निशाना बनाया. साथ ही स्थानीय लोगों की हत्याओं की श्रृंखला को अंजाम दिया. पुलिस और सुरक्षाबलों को लंबे समय से उसकी तलाश थी. रिपोर्ट्स के अनुसार आतंकी नवीद बाबू पर अक्‍टूबर और नवंबर महीने में दक्षिण कश्‍मीर में 11 गैर कश्‍मीरियों की हत्‍या में शामिल होने का आरोप है.