भारतीय जनता पार्टी गुरुवार को राजधानी में बाइक रैली कर दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए माहौल बनाएगी. इस रैली को दिल्ली विजय संकल्प रैली नाम दिया गया है. प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी का कहना है कि यह रैली हर धर्म और जाति के युवाओं की ओर से आयोजित की जा रही है, जिसे भाजपा ने समर्थन दिया है. उन्होंने बताया कि सुबह दस बजे से पंत मार्ग स्थित प्रदेश कार्यालय से रैली शुरू होकर विभिन्न स्थानों से गुजरेगी, जिसमें पार्टी नेता भाग लेंगे.(IANS इनपुट के साथ)

केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री रामदास अठावले ने मंगलवार को कहा कि जेएनयू अब गुंडागर्दी का अड्डा बन चुका है. दोबारा ऐसी घटनाएं न हों, इसके लिए जेएनयू में कोड ऑफ कंडक्ट लागू करने की जरूरत है. इसके लिए वह केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक से भी बात करेंगे.अठावले ने जेएनयू में बीते रविवार को नकाबपोश लोगों के छात्रों पर हमले की निंदा की. उन्होंने जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष आइशी घोष की भूमिका की भी जांच किए जाने की मांग की और कहा, "एक वीडियो में वह भी नकाब में दिखी हैं."(IANS इनपुट के साथ)

बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण छात्रों के समर्थन में राजधानी दिल्ली के जेएनयू पहुंची हैं. वो जेएनयू हिंसा के विरोध में हुए प्रदर्शन में शामिल हुईं. इस दौरान दीपिका ने  दीपिका ने जेएनयू छात्र संघ (JNUSU) अध्यक्ष आइशी घोष से भी मुलाकात की, जो हिंसा के दौरान घायल हुई थी.

मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया पर सोमवार को प्रदर्शन के दौरान फ्री कश्मीर का पोस्टर लहराने वाली लड़की के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. मुंबई के कोलाबा पुलिस स्टेशन में यह एफआईआर दर्ज हुई है. 

Load More

जेएनयू में रविवार शाम को नकाबपोश हथियारबंद लोगों ने छात्रों और शिक्षकों ने लाठी-डंडे और हथियारों से हमला किया, जिसमें करीब 34 छात्र घायल हो गए. छात्रों पर हुए इस हमले के विरोध में देशभर में विरोध प्रदर्शन किए जा रहे हैं. मुंबई-कोलकाता समेत कई शहरों में छात्र सड़कों पर उतर JNU छात्रों के समर्थन में खड़े हैं. घटना के दो दिन होने को हैं, लेकिन दिल्ली पुलिस अभी तक किसी भी गुनहगार को पकड़ नहीं पाई है. दिल्ली पुलिस की तरफ से इस मामले की जांच करने के लिए एक टीम का गठन किया गया है. साथ ही इस मामले को क्राइम ब्रांच को सौंप दिया गया है, जिसने अपनी जांच शुरू कर दी है.

मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया पर JNU छात्रों के समर्थन में रविवार रात से ही विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. यह प्रदर्शन तो जेएनयू हिंसा के विरोध में था, लेकिन इस दौरान फ्री कश्मीर लिखे पोस्टर भी देखे गए. इस पोस्टर पर सियासी गहमा-गहमी शुरू हो गई है.

आज के सभी मुख्य समाचार और ब्रेकिंग न्यूज पढ़ने के लिए हमारे साथ जुड़े रहें.

पूर्व सीएम और बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने अपने ट्वीट में लिखा, 'प्रदर्शन किस बात के लिए? 'फ्री कश्मीर' की नारेबाजी क्यों? मुंबई में हम ऐसे अलगाववादी ताकतों को कैसे बर्दाश्त कर सकते हैं? मुख्यमंत्री कार्यालय के दो किमी की दूरी पर आजादी गैंग के द्वारा 'फ्री कश्मीर' के नारे लगाए गए. उद्धव जी क्या आप ऐसे नारों को बर्दाश्त करेंगे?'