भारतीय रिजर्व बैंक ने बुधवार को शिरडी स्थित श्री साईंबाबा संस्थान ट्रस्ट (एसएसएसटी) के छोटे सिक्कों की बड़ी समस्या का समाधान कर दिया. यह जानकारी यहां एसएसएसटी के एक शीर्ष अधिकारी ने दी. केंद्रीय बैंक ने एसएसएसटी के खाते वाले 16 राष्ट्रीयकृत बैंकों को मंदिर में हर साल लाखों श्रद्धालुओं द्वारा चढ़ाए जाने वाले छोटे सिक्कों को स्वीकार करने का आदेश दिया है.

एसएसएसटी के चीफ अकाउंट्स ऑफिसर बी. बी. घोरपड़े ने आईएएनएस को बताया, "आरबीआई के महानिदेशक (निर्गत) के. कमलकानन ने इस समस्या का समाधान करने के लिए एक बैठक की। हम पिछले एक साल से इस समस्या से जूझ रहे थे."

उन्होंने बताया कि साईंबाबा समाधि मंदिर के खजाने और आसपास के परिसर में सालाना औसतन एक करोड़ सिक्के जमा होते हैं जिनके मूल्य करीब चार करोड़ रुपये होते हैं.

इनमें एक रुपया, दो रुपये, पांच रुपये और 10 रुपये के सिक्के होते हें. सिक्कों का वजन कई टन होता है जिनको गिनकर उनकी लेखांकन करने के बाद विभिन्न बैंकों में स्थित एसएसएसटी के खातों में जमा करवाया जाता है.

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने ‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’ के विचार का पूर्ण समर्थन करते हुए बुधवार को कहा कि बार-बार चुनाव कराने से विकास की गति प्रभावित होती है और ‘‘सहकारी संघवाद की भावना को भी नुकसान पहुंचता है.’’प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा दिल्ली में बुलायी गई एक सर्वदलीय बैठक में पटनायक ने भूमि अधिग्रहण अधिनियम और वन संरक्षण अधिनियम पर फिर से विचार करने की जोरदार वकालत की.

प्रधानमंत्री ने लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ कराने की संभावनाओं को तलाशने के लिए बुधवार को विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के नेताओं से मुलाकात की.

श्रीलंका के पहले उपग्रह ‘रावना-1’ को अंतरिक्ष की कक्षा में सफलतापूर्वक स्थापित कर दिया गया है. इसका डिजायन और विकास दो स्थानीय इंजीनियरों ने किया है. इस उपग्रह का प्रक्षेपण अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (आईएसएस) ने जापान और नेपाल के उपग्रह के साथ किया है. ‘द कोलंबो पेज’ की एक रिपोर्ट के अनुसार ‘रावना-1’, 11.3x 10 x 10 सेंटीमीटर का एक घनाकार उपग्रह है और इसका वजन 1.05 किलोग्राम है.

इसे श्रीलंका के समयानुसार सोमवार को शाम तीन बजकर 45 मिनट पर कक्षा में प्रक्षेपित किया गया.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार को कहा कि ‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’ के मुद्दे पर विचार करने लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक समिति गठित करेंगे जो निश्चित समय-सीमा में अपनी रिपोर्ट देगी.

बिहार में चमकी बुखार (AES) से मरने वाले बच्चों की संख्या बढ़ कर 128 हुई.

मुंबई कांग्रेस प्रमुख मिलिंद देवड़ा ने कहा है कि भारत की 70 साल की चुनावी यात्रा ने हमें सिखाया है कि भारतीय मतदाता राज्य और केंद्रीय चुनावों में अंतर कर सकता है. हमारा लोकतंत्र न तो नाजुक है और न ही अपरिपक्व है.

 

कर्नाटक के सीएम एचडी कुमारस्वामी ने कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे से बेंगलुरु में उनके आवास पर मुलाकात की.

बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मुजफ्फरपुर में एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) के कारण बच्चों की मौतों पर पत्रकारों के सवालों का जवाब देने से इनकार कर दिया. कहा कि, "मैंने आपको पहले ही बताया था कि यह प्रेस कॉन्फ्रेंस बैंकिंग समितियों के बारे में है"

संसद में 'वन नेशन वन इलेक्शन' को लेकर सर्वदलीय बैठक शुरू.

रूस के उप प्रधानमंत्री यूरी पेत्रोविच ट्रुटनेव ने आज दिल्ली में विदेश मंत्री एस जयशंकर से मुलाकात की.

Load More

देश में पिछले काफी समय से एक साथ विधानसभा और लोकसभा चुनाव कराने को लेकर चर्चा छिड़ी है. इसी बहस को आगे बढ़ाने के लिए आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राजनीतिक दलों के प्रमुखों की बैठक बुलाई है. इस बैठक में राष्ट्रीय पार्टियों, क्षेत्रीय पार्टियों के अध्यक्ष को शामिल होना है. ये बैठक बुधवार दोपहर 3 बजे संसद भवन की लाइब्रेरी में होगी. तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस बैठक में आने से इनकार कर दिया है. इस बैठक में ‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’ पर विचार किया जाएगा. आज के सभी मुख्य समाचार और ब्रेकिंग न्यूज पढ़ने के लिए हमारे साथ जुड़े रहें. 

साथ ही 2022 में आजादी के 75वें वर्ष के जश्न, महात्मा गांधी के इस साल 150वीं जयंती वर्ष को मनाने समेत कई मामलों पर चर्चा की जाएगी. इसके बाद 20 जून को सभी सांसद रात्रिभोज के समय बैठक करेंगे. वहीं बिहार में ‘चमकी’ बुखार से मरने वाले बच्चों की संख्या बढ़कर 135 हो गई है. बता दें कि चमकी बुखार एक्यूट इन्सेफ्लाइटिस सिंड्रोम (एईएस) को कहा जा रहा है.

गौरतलब है कि मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मुजफ्फरपुर पहुंचे और एसकेएमसीएचअस्पताल का दौरा किया तो उन्हें आम लोगों की नाराजगी झेलने पड़ी. लोगों ने 'नीतीश वापस जाओ' के नारे लगाए. मुख्यमंत्री ने अधिकारियों और चिकित्सकों के साथ बैठक की और कई आवश्यक निर्देश दिए.