देश की खबरें | उत्तर प्रदेश : मुख्यमंत्री ने बाढ़ प्रभावित जिलों में राहत कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिये

लखनऊ, 11 जुलाई उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बृहस्पतिवार को श्रावस्ती और बलरामपुर जिलों के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वे किया और अधिकारियों को राहत कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिये।

राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने यहां बताया कि मुख्यमंत्री ने श्रावस्ती और बलरामपुर जिलों के बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण किया।

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने सबसे पहले श्रावस्ती की बाढ़ प्रभावित इकौना तहसील के सभी गांवों का हवाई सर्वे किया। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों से बाढ़ की स्थिति का जायजा लिया।

इसके बाद मुख्यमंत्री ने लक्ष्मणपुर कोठी राप्ती बैराज का स्थलीय निरीक्षण किया और बाढ़ के पानी से सुरक्षित बाहर निकाले गये 11 पीड़ितों से एक-एक कर मुलाकात की।

प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने बाढ़ में फंसे लोगों की सूचना देने वाली रेखा देवी, गांव के गाइड और पीएसी के पांच जवानों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित भी किया।

उन्होंने बताया कि योगी ने सभी सात लोगों को नकद पुरस्कार से सम्मानित करने का ऐलान किया। इसके अलावा आपदा में अपनों को खोने वाले चार परिजनों को चार-चार लाख रुपये की सहायता धनराशि के चेक भी सौंपे।

आदित्यनाथ ने दोनों जिलों के बाढ़ प्रभावित इलाकों का स्थलीय निरीक्षण भी किया।

प्रवक्ता ने बताया कि इस वक्त प्रदेश के 12 जिलों के 633 गांवों में रहने वाले करीब 18 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित है। उन्होंने बताया कि बाढ़ की वजह से एक लाख 45 हजार से अधिक हेक्टेयर कृषि भूमि भी प्रभावित है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि बाढ़ग्रस्त इलाकों में 923 से अधिक बाढ़ चौकियां स्थापित की गयी हैं, जहां से बाढ़ की स्थिति और राहत कार्यों की निगरानी की जा रही है।

उन्होंने कहा कि इसके अलावा 1033 से अधिक बाढ़ शरणालय स्थापित किये गये हैं, जहां बाढ़ से प्रभावित लोग रह रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों के साथ बैठक कर राहत कार्य तेज करने के साथ अन्य आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)