देश की खबरें | जलभराव के कारण प्रभावित कोंकण रेल मार्ग पर यातायात 18 घंटे बाद बहाल

पणजी, 10 जुलाई गोवा के निकट पेरनेम में एक सुरंग के अंदर पानी भर जाने के कारण 18 घंटे तक सेवाएं बाधित रहने के बाद बुधवार शाम कोंकण रेलवे मार्ग पर रेल यातायात बहाल कर दिया गया।

कोंकण रेलवे कॉरपोरेशन (केआरसीएल) ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा कि रात आठ बजकर 35 मिनट पर रेल यातायात के लिए मंजूरी दी गई।

मदुरे-पेरनेम खंड के बीच पेरनेम सुरंग में पानी भरने के कारण कोंकण रेलवे मार्ग पर मंगलवार अपराह्न 2.35 बजे से सेवाएं प्रभावित थीं।

कोंकण रेलवे कॉरपोरेशन के उप-महाप्रबंधक बबन घाटगे ने कहा, ‘‘सुरंग में भरा पानी निकालने के बाद मंगलवार रात 10.13 बजे मार्ग पर एक बार फिर परिचालन की अनुमति दे दी गई। हालांकि, देर रात 2.59 बजे सुरंग में फिर पानी भर गया, जिसे देखते हुए कोंकण रेलवे मार्ग पर कुछ ट्रेन रद्द कर दी गई हैं और कुछ के मार्ग में बदलाव किया गया है।’’

उन्होंने बताया कि कुछ रेलगाड़ियां रद्द कर दी गईं जबकि अन्य के मार्ग में बदलाव किया गया।

केआरसीएल द्वारा सुबह नौ बजे जारी बुलेटिन के अनुसार, मडगांव से मुंबई की ओर जाने वाली ट्रेन संख्या 10104 मंडोवी एक्सप्रेस, ट्रेन संख्या 50108 मडगांव से सावंतवाड़ी (महाराष्ट्र), 22120 मडगांव से मुंबई तेजस एक्सप्रेस, 12052 मडगांव से मुंबई जनशताब्दी एक्सप्रेस और 10106 सावंतवाड़ी-दिवा एक्सप्रेस रद्द कर दी गई।

इसके अनुसार जिन रेलगाड़ियों का मार्ग परिवर्तित किया गया उनमें ट्रेन संख्या 19577 तिरुनेलवेली-जामनगर एक्सप्रेस, 16336 नागरकोइल-गांधीधाम एक्सप्रेस, 12283 एर्नाकुलम-हजरत निजामुद्दीन एक्सप्रेस और 16346 तिरुवनंतपुरम सेंट्रल लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस शामिल हैं।

सुरंग में बार-बार पानी भर जाने के कारण मडगांव, कैनाकोना, करमाली, थिविम और पेरनेम सहित गोवा के विभिन्न रेलवे स्टेशनों पर कई यात्री फंसे रहे।

ट्रेन अचानक रद्द किए जाने के कारण कई रेलवे स्टेशन पर अराजक स्थिति पैदा हो गई, खासकर दक्षिण गोवा के मडगांव स्टेशन पर। गुजरात के 200 यात्रियों का एक समूह, जिसमें 60 वरिष्ठ नागरिक भी शामिल थे, उस समय फंस गए जब प्रस्थान से ठीक दो घंटे पहले गोवा संपर्क क्रांति एक्सप्रेस रद्द कर दी गई।

यात्री समूह में शामिल अब्दुल वालेकर ने कहा, “हमारे साथ 200 लोगों का एक समूह है, जिसमें कम से कम 60 वरिष्ठ नागरिक हैं। हमें दो घंटे पहले ही बताया गया कि ट्रेन रद्द कर दी गई है। अब हम क्या करें?”

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)