देश की खबरें | दिव्यांग छात्र की मृत्यु के मामले में मेडिकल बोर्ड के तीन सदस्य निलंबित
एनडीआरएफ/प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credits: ANI)

जम्मू, 22 नवंबर जम्मू कश्मीर सरकार ने श्रीनगर के जिला मेडिकल बोर्ड के कार्यालय के बाहर कक्षा दसवीं के एक दिव्यांग छात्र की मौत के बाद रविवार को बोर्ड के तीन सदस्यों को निलंबित कर दिया।

एक अधिकारी ने बताया कि एक्यूट मस्क्युलर डिस्ट्रोफी से पीड़ित छात्र अपनी मां और बहन के साथ अपनी चिकित्सा संबंधी स्थिति का प्रमाणपत्र लेने के लिए डीएमबी कार्यालय पहुंचा था। इस स्थिति में मासंपेशियां बहुत कमजोर हो जाती हैं और पीड़ित चलने, फिरने जैसे रोजमर्रा के काम सामान्य तरीके से करने में अक्षम होता है।

यह भी पढ़े | COVID-19 Updates in Maharashtra: महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे बोले-कोविड-19 की दूसरी लहर हो सकती है ‘सुनामी’.

जम्मू कश्मीर सरकार के प्रवक्ता ने कहा कि लड़के को जम्मू कश्मीर स्कूल शिक्षा बोर्ड में जमा करने के लिए प्रमाणपत्र चाहिए था ताकि उसकी दसवीं कक्षा की परीक्षा में लिखने के लिए एक सहायक की अनुमति मिल सके। उन्होंने कहा कि बोर्ड ने पहले उसे प्रश्नपत्रों के उत्तर लिखने के लिए सहायक की मदद की अनुमति नहीं दी थी।

अधिकारी के अनुसार लड़का जब मेडिकल बोर्ड के दफ्तर के बाहर पहुंचा तो उसकी मां और बहन दफ्तर के अंदर गयीं और उसे गाड़ी में बाहर छोड़ गयीं। उन्होंने बोर्ड के सदस्यों से अनुरोध किया कि उनके दफ्तर के बाहर खड़ी गाड़ी में बैठे बच्चे का निरीक्षण करें।

यह भी पढ़े | मुंबई: ठाकुर विलेज में चैलेंजर्स टॉवर के 24वें फ्लोर के फ्लैट में लगी आग, कोई हताहत नहीं: 22 नवंबर 2020 की बड़ी खबरें और मुख्य समाचार LIVE.

हालांकि बोर्ड के डॉक्टरों ने छात्र का निरीक्षण करने के लिए उनके साथ बाहर गाड़ी तक जाने से इनकार कर दिया। परिवार श्रीनगर के चानापुरा इलाके का रहने वाला है।

अधिकारी के अनुसार इस बीच ही लड़के को मेडिकल बोर्ड के दफ्तर के बाहर इंतजार करते हुए सांस लेने में दिक्कत होने लगी लेकिन उसकी बिगड़ती हालत का पता चलने के बाद भी डॉक्टर उसे देखने बाहर नहीं आए।

प्रवक्ता के अनुसार लड़के की मां और बहन उसे लेकर पास के अस्पताल पहुंचीं जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। इस दौरान भी मेडिकल बोर्ड का कोई अधिकारी या कर्मी अस्पताल तक किशोर के साथ नहीं गया।

सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि इस मामले में मेडिकल बोर्ड के सदस्यों - गांदेरबल उप जिला अस्पताल की चिकित्सक डॉ नीलोफर, लेपर अस्पताल में चिकित्सा अधिकारी शुजा राशिद और श्रीनगर के सरकारी गौसिया अस्पताल के नेत्ररोग विशेषज्ञ डॉ फरहान बशीर को निलंबित कर दिया गया है।

प्रवक्ता ने कहा कि लड़के की मृत्यु के बाद नर्सिंग सहायक गुलाम हासन को भी निलंबित कर दिया गया है।

कश्मीर के अतिरिक्त आयुक्त की सिफारिश पर कश्मीर के स्वास्थ्य निदेशक ने निलंबन के आदेश जारी किये।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)