देश की खबरें | रूस-भारत-चीन के विदेश मंत्रियों की बैठक 26 नवंबर को होगी

नयी दिल्ली, 25 नवंबर भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर, उनके चीनी समकक्ष वांग यी और रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव के बीच शुक्रवार को डिजिटल तरीके से वार्ता होगी जिसमें मुख्य रूप से वैश्विक मुद्दों पर चर्चा होगी।

विदेश मंत्रालय के अनुसार, रूस, भारत और चीन (आरआईसी) के त्रिपक्षीय 'फ्रेमवर्क' के तहत शुक्रवार (26 नवंबर) को होने वाली इस बैठक की अध्यक्षता विदेश मंत्री एस जयशंकर करेंगे।

विदेश मंत्रालय के बयान के अनुसार, विदेश मंत्री एस जयशंकर की अध्यक्षता में रूस, भारत और चीन (आरआईसी) समूह के विदेश मंत्रियों की 18वीं बैठक शुक्रवार 26 नवंबर को डिजिटल तौर पर वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से होगी।

तीनों देशों के विदेश मंत्रियों के बीच अफगानिस्तान सहित परस्पर हित के विभिन्न क्षेत्रीय मुद्दों पर चर्चा होने की संभावना है।

बयान के अनुसार, इस बैठक में तीनों देशों के विदेश मंत्रियों के बीच क्षेत्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय महत्व के विभिन्न मुद्दों सहित आरआईसी त्रिपक्षीय सहयोग को मजबूत बनाने के बारे में चर्चा किये जाने की संभावना है।

आरआईसी रूपरेखा के तहत तीनों देशों के विदेश मंत्री समय-समय पर द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर के अपने हितों के मामलों/मुद्दों पर चर्चा के लिए मिलते हैं।

बयान के अनुसार, आरआईसी समूह के विदेश मंत्रियों की पिछली बैठक मास्को में सितंबर 2020 में हुई थी और इसके बाद भारत ने इसकी अध्यक्षता का दायित्व संभाला।

इसमें कहा गया कि शुक्रवार को होने वाली बैठक के बाद भारत अगले एक वर्ष के लिये आरआईसी की अध्यक्षता चीन को सौंपेगा।

यह बैठक पूर्वी लद्दाख में सीमा पर जारी गतिरोध के बीच हो रही है।

जयशंकर और वांग के बीच सितंबर में ताजिकिस्तान की राजधानी दुशांबे में भी द्विपक्षीय वार्ता हुई थी। दोनों नेता वहां शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गेनाइजेशन (एससीओ) की बैठक में शामिल होने गए थे।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)