देश की खबरें | ज्ञानवापी मस्जिद परिसर के सर्वेक्षण को लेकर विपक्ष की चुप्पी पर ओवैसी ने उठाये सवाल

अहमदाबाद, 14 मई ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद परिसर के वीडियो सर्वेक्षण पर कांग्रेस और समाजवादी पार्टी (सपा) सहित सभी विपक्षी दलों की 'चुप्पी' पर शनिवार को सवाल उठाया और आरोप लगाया कि ये दल इसलिए चुप हैं, क्योंकि मुसलमान उनके वोट बैंक नहीं हैं।

ओवैसी ने कहा कि संविधान मुसलमानों को उनकी संस्कृति और पहचान का पालन करने की अनुमति देता है और ‘‘हम ऐसा घर और बाहर दोनों जगह करते रहेंगे।

एआईएमआईएम के प्रमुख ने यहां ईद मिलाप कार्यक्रम में कहा, "कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी जैसे विपक्षी दल ज्ञानवापी मस्जिद के मुद्दे पर चुप क्यों हैं? वे कुछ नहीं कह रहे हैं, क्योंकि मुसलमान उनके वोट बैंक नहीं हैं।"

भाजपा, कांग्रेस, आप और समाजवादी पार्टी को 'कट्टरपंथी दल' करार देते हुए ओवैसी ने आरोप लगाया कि ये दल चाहते हैं कि मुसलमान घर पर ही मुसलमान रहें और बाहर होने पर उनकी (दलों की) संस्कृति को स्वीकार करें।

हैदराबाद के सांसद ने कहा, "भारत का संविधान आपको अपनी संस्कृति, अपनी पहचान का पालन करने की अनुमति देता है। हम ऐसा घर और बाहर दोनों जगह करते रहेंगे।"

ओवैसी ने कहा, ‘‘मैं यहां आपको और सरकार को भी बताने आया हूं कि हमने एक बाबरी मस्जिद खो दी है, लेकिन दूसरी मस्जिद नहीं खोएंगे। उन्होंने हमारी (बाबरी) मस्जिद को चालाकी से और न्याय की हत्या करके छीन लिया, लेकिन याद रखें, आप अब एक और मस्जिद को छीनने में सक्षम नहीं हो पाएंगे।’’

उन्होंने कहा कि ज्ञानवापी मस्जिद एक मस्जिद रही है और रहेगी।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)