देश की खबरें | वर्ष 2019 के बालाकोट हवाई हमले पर आधारित नई पुस्तक

नयी दिल्ली, तीन अगस्त फरवरी, 2019 में पुलवामा में हुए आत्मघाती बम हमले और उसके 12 दिन बाद भारत द्वारा बालाकोट में किये गये जबर्दस्त हवाई हमलों के इर्द-गिर्द की घटनाओं को समेटे एक नयी पुस्तक प्रकाशित की गयी है।

नौसेना के पूर्व कर्मी मनान भट्ट ने ‘‘बालाकोट एयरस्ट्राइक: हाउ इंडिया एवेंज्ड’ नामक पुस्तक लिखी है जिसे गरूड़ प्रकाशन ने प्रकाशित किया है।

इन ‘दो अहम घटनाओं’ का विस्तृत ब्योरा देने वाली इस पुस्तक में ‘‘सीआरपीएफ की बस को (आत्मघाती बम हमलावर द्वारा) टक्कर मारे जाने से पहले के कुछ क्षणों से लेकर बालाकोट में बम गिराये जाने के दौरान वायुसेना के विमान चालकों के बीच की आपसी बातचीत तथा इन दो घटनाओं के 12 दिनों के बीच के संवाद आदि सारी चीजें’’ समेटने का दावा किया गया है।

छब्बीस फरवरी, 2019 को भारतीय वायुसेना के जंगी विमानों ने नियंत्रण रेखा पार कर पाकिस्तान के बालाकोट में आतकवादी लांचिंग पैड को तबाह कर दिया था। उससे पहले 14 फरवरी को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में एक आतंकवादी हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 40 जवान मारे गये थे।

लेखक ने कहा, ‘‘ यह पुस्तक पुलवामा आतंकवादी हमले में बाल-बाल बच गये सीआरपीएफ के हेडकांस्टेबल इकबाल सिंह की जुबानी-- घाटी में तैनात बल के जवानों की जिंदगी एवं हाल की कहानी है। यह नये भारत की कहानी बताती है जो पलटवार करने एवं आतंकवाद के सामने नहीं झुकने वाला है। ’’

प्रकाशक के अनुसार यह पुस्तक पाठकों की देशभक्ति को जाग्रत करती है और उनमें सशस्त्र बलों के प्रति आभार एवं गर्व की भावना पैदा करती है।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)