देश की खबरें | सोरेन एवं परिजनों को खनन पट्टा, फर्जी कंपनी मामले में अब आठ जुलाई को सुनवाई

रांची, पांच जुलाई झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन एवं उनकी पत्नी तथा करीबियों के नाम खनन पट्टा आवंटित करने एवं फर्जी कंपनियों के माध्यम से करोड़ों रुपये की हेराफेरी के मामले की सुनवाई कर रहे उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश की खंडपीठ के आज उपलब्ध न होने से उसकी सुनवाई स्थगित हो गयी और अब उसकी सुनवाई आठ जुलाई को होगी।

झारखंड उच्च न्यायालय में अब आठ जुलाई को इस मामले की सुनवाई होगी। मंगलवार को यह मामला सुनवाई के लिए सूचीबद्ध था लेकिन मुख्य न्यायाधीश की अध्यक्षता वाली खंडपीठ के उपलब्ध नहीं रहने के कारण सुनवाई टल गयी। इस संबंध में उच्च न्यायालय के रजिस्ट्रार ने नोटिस जारी कर कहा है कि मंगलवार को राज्य के उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश डॉ रवि रंजन और न्यायमूर्ति सुजीत नाराायण प्रसाद की अदालत में सूचीबद्ध फर्जी कंपनी, खनन लीज और मनरेगा घोटाले के मामले की सुनवाई आठ जुलाई को होगी।

प्रार्थी शिवशंकर शर्मा ने दो याचिकाएं दायर की हैं। उच्च न्यायालय में इन दोनों याचिकाओं में प्रार्थी की ओर से दलील पूरी कर ली गयी है। आठ जुलाई को सरकार की ओर से पक्ष रखा जाएगा।

इस बीच सरकार ने एक हस्तक्षेप याचिका दायर कर कहा है कि प्रार्थी शिवशंकर शर्मा ने जो भी आरोप लगाए हैं वे गलत और बेबुनियाद हैं। प्रार्थी की ओर से एक भी साक्ष्य नहीं दिया गया है। अधूरी जानकारी देकर उच्च न्यायालय को गुमराह किया गया है।

राज्य सरकार की ओर से आज उच्च न्यायालय में शर्मा के खिलाफ अपराध प्रकिया संहिता की धारा 340 के तहत गलत हलफनामा देकर अदालत को भ्रमित करने के आरोप वाली याचिका दाखिल की गयी।

इससे पूर्व इस मामले में 30 जून को सुनवाई के दौरान झारखंड उच्च न्यायालय में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन एवं उनके परिजनों तथा सहयोगियों के नाम से खनन पट्टा, फर्जी कंपनियों के माध्यम से करोड़ों रुपये धन शोधन समेत तमाम मामलों में आखिरकार बहस प्रारंभ हो गयी और बहस की शुरूआत में ही याचिकाकर्ता ने आरोप लगाया कि झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, उनकी पत्नी कल्पना सोरेन, प्रेस सलाहकार अभिषेक प्रसाद उर्फ पिंटू, हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा, व्यवसाय सहयोगी अमित अग्रवाल और सुरेश नागरे अवैध खनन से पैसे की उगाही कर फर्जी कंपनियों में निवेश करते हैं और उसके जरिए देश के अन्य भागों में संपत्ति खरीदी जाती है।

, इन्दु

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)