जरुरी जानकारी | आसियान के साथ एफटीए की जल्द समीक्षा चाहता है भारत

नयी दिल्ली, 14 सितंबर भारत और 10 सदस्यीय आसियान ब्लॉक को मुक्त व्यापार करार (एफटीए) की जल्द समीक्षा का प्रयास करना चाहिये है। वाणिज्य एवं उद्योग राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल ने मंगलवार को कहा कि भारत और आसियान को यह साल समाप्त होने से पहले एफटीए की समीक्षा की घोषणा करनी चाहिए।

यह मुद्दा 18वें आसियान-भारत आर्थिक मंत्रियों के विचार-विमर्श के दौरान उठा। आसियान-भारत के बीच वस्तुओं के व्यापार करार पर 13 अगस्त, 2009 में हस्ताक्षर हुए थे। यह एक जनवरी, 2010 से प्रभाव में आया।

दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों के संगठन (आसियान) के सदस्यों में इंडोनेशिया, थाइलैंड, सिंगापुर, मलेशिया, फिलिपीन, वियतनाम, म्यामां, कंबोडिया, ब्रुनेई और लाओस आते हैं।

पटेल ने कहा कि व्यापार व्यवस्था पारस्परिक, आपसी लाभ वाली तथा सभी भागीदारों की आकांक्षाओं के बीच संतुलन बैठाने वाली होनी चाहिए।

मंत्री ने आसियान से भारत- आसियान सेवा और निवेश समझौते की समीक्षा के लिये संयुक्त समितियां बनाने का भी आग्रह किया।

बैठक में आसियान के 10 देशों के आर्थिक मंत्रियों ने भाग लिया।

अजय

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)