देश की खबरें | एआईसीटीई ने इंजीनियरिंग कॉलेजों और तकनीकी संस्थानों से खेल सुविधाओं के बारे में जानकारी मांगी

नयी दिल्ली, 14 अक्टूबर अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) ने सभी इंजीनियरिंग कॉलेजों और अन्य तकनीकी संस्थानों से उनके पास उपलब्ध खेल सुविधाओं का विवरण मांगा है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

यह कदम तोक्यो ओलंपिक और पैरालंपिक में भारत के बेहतर प्रदर्शन के मद्देनजर, खेल के बुनियादी ढांचे के बेहतर उपयोग के उद्देश्य से उठाया गया है।

एआईसीटीई के नीति एवं शैक्षणिक योजना ब्यूरो के निदेशक कर्नल ए श्रीनाथ ने एक आधिकारिक बयान में कहा, ''तकनीकी संस्थान भारत में खेलों को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। तोक्यो ओलंपिक और पैरालंपिक, 2021 के दौरान भारतीय खिलाड़ियों के विश्वसनीय प्रदर्शन के मद्देनजर संस्थान भविष्य में होने वाली राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के लिए खिलाड़ियों को तैयार कर सकते हैं।''

उन्होंने कहा, ''शिक्षा मंत्रालय भारतीय संस्थानों में उपलब्ध खेल सुविधाओं के मुद्दे पर युवा मामले एवं खेल मंत्रालय के साथ चर्चा करना चाहता है। साथ ही वह चाहता है कि आपके संस्थान में उपलब्ध खेल अवसंरचनाओं के बारे में विवरण प्रदान किया जाए।''

संस्थानों से मांगी गई जानकारी में खेल के मैदानों की संख्या, खेल परिसर की उपलब्धता, व्यायामशाला या फिटनेस सेंटर, इनडोर स्टेडियम, स्वीमिंग पूल और योग केंद्र शामिल हैं। संस्थानों को वहां पढ़ने वाले छात्रों और खेल में शामिल लोगों का ब्योरा भी मुहैया कराने को कहा गया है।

भारत ने इस साल ओलंपिक में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए एक स्वर्ण सहित सात पदक जीते। पैरालिंपिक में भी, भारतीय एथलीटों ने अब तक सबसे अधिक 19 पदकों के साथ इतिहास रचा।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)