विदेश की खबरें | रूस के साइबेरिया में कोयला खदान में आग लगने से 14 लोगों की मौत

प्राधिकारियों ने बताया कि 11 खनिक मृत पाए गए और तीन बचावकर्मियों की भी बाद में उन खनिकों की खोज के दौरान मौत हो गई जो खदान के काफी भीतर फंसे हुए थे। क्षेत्रीय अधिकारियों ने मृतकों की याद में तीन दिन के शोक की घोषणा की।

केमेरोवो के गवर्नर सर्गेई सिविलयोव ने कहा कि 35 खनिक लापता हैं और उनका सटीक स्थान अज्ञात है।

विस्फोट के खतरे के कारण लगभग 250 मीटर (820 फीट) अंदर भूमिगत खदान में फंसे लोगों को बचाने के प्रयास बृहस्पतिवार अपराह्न में रोक दिए गए और बचाव दल को खदान से बाहर निकाल लिया गया।

‘इंटरफैक्स’ समाचार एजेंसी ने बताया कि खनिकों के पास आमतौर पर छह घंटे चलने के लिए ऑक्सीजन आपूर्ति होती है जिसे कुछ और घंटे चलाया जा सकता है। हालांकि खनिकों का ऑक्सीजन किसी भी तरह बृहस्पतिवार देर रात समाप्त हो गया होगा। इस घटना में करीब 50 अन्य खनिक घायल हुए हैं।

रूस की जांच समिति ने सुरक्षा नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में आग की आपराधिक जांच शुरू की है, जिसके कारण मौतें हुईं।

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने जान गंवाने वाले खनिकों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की और सरकार को घायलों को सभी आवश्यक सहायता प्रदान करने का आदेश दिया।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)