विदेश की खबरें | रूस के साइबेरिया में कोयला खदान में आग लगने से 11 की खनिकों की मौत, 40 से अधिक घायल

आग दक्षिण-पश्चिमी साइबेरिया के केमेरोवो क्षेत्र में लगी। रूस की सरकारी समाचार एजेंसी ‘तास’ ने एक अज्ञात आपातकालीन अधिकारी के हवाला से बताया कि कोयले की धूल में आग लग गई, और उसका धुआं वेंटिलेशन सिस्टम के माध्यम से लिट्स्व्याज्हनाया खदान में तेजी से भर गया।

केमेरोवो के गवर्नर सर्गेई त्सिविलोव ने मैसेजिंग ऐप टेलीग्राम के अपने पेज पर बताया कि घटना के समय कुल 285 लोग खदान में थे, जिनमें से 239 को निकाल लिया गया है और 46 अन्य खनिक अब भी भूमिगत खदान में फंसे हुए हैं।

त्सिविलोव ने कहा, “46 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है जिनमें से चार की हालत गंभीर है।”

इससे पहले बृहस्पतिवार को, आपातकालीन स्थितियों के लिए रूस के कार्यवाहक मंत्री, अलेक्जेंडर चुप्रियन ने कहा कि 44 खनिकों को आई चोटों को लेकर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। विभिन्न अधिकारियों द्वारा दी गई जानकारी में घायलों की संख्या में विरोधाभास को अभी दूर नहीं किया जा सका है।

धुएं के कारण खदान में फंसे और लोगों को बचाने के लिये किये जा रहे प्रयास में बाधा आ रही है।

रूस की जांच समिति ने सुरक्षा उपायों के उल्लंघन के आरोपों को लेकर अग्निकांड के बाद जांच शुरू कर दी है।

राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने हादसे में मारे गए खनिकों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की और सरकार को घायलों को सभी आवश्यक सहायता मुहैया कराने के लिये कहा। पुतिन के प्रवक्ता दिमित्री पेस्कोव ने संवाददाताओं को यह जानकारी दी।

एपी

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)