जरुरी जानकारी | दूरसंचार विभाग ने अशीष जोशी का निलंबन 90 दिनों के लिये बढ़ाया

नयी दिल्ली, 21 जुलाई दूरसंचार विभाग ने पूर्व संचार लेखा नियंत्रक आशीर्ष जोशी का निलंबन 90 दिनों के लिये और बढ़ा दिया है। अधिकारी के सोशल मीडिया पर दी गयी सूचना से यह जानकारी मिली।

जोशी को 26 फरवरी, 2019 को निलंबित किया गया था। उन्होंने दिल्ली पुलिस से संपर्क कर यूट्यूब और ट्विटर पर ‘भड़काऊ वीडियो’ डालने को लेकर भारतीय जनता पार्टी के नेता कपिल मिश्रा के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। उसके बाद उन्हें निलंबित किया गया था।

आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता मिश्रा ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो डाला था। वीडियो में वह ‘देशद्रोहियों’ के खिलाफ ‘युद्ध छेड़ने’ का संकल्प लेते नजर आते हैं। जोशी ने दिल्ली के तत्कालीन पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक को पत्र लिखकर कहा कि मिश्रा के वीडियो की सामग्री सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम और भारतीय दंड संहिता का उल्लंघन है।

जोशी ने सोशल मीडिया पर लिखा, ‘‘मैं पिछले 880 दिनों से निलंबित हूं। अब इसे 90 दिनों के लिये और बढ़ा दिया गया है।’’

इस बारे में संपर्क किये जाने पर जोशी ने निलंबन मामले में कुछ भी कहने से मना कर दिया।

दूरसंचार विभाग को ई-मेल भेजकर जानकारी मांगी गयी, लेकिन उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं आया।

जोशी ने 19 फरवरी, 2019 को दूरसंचार कंपनियों को आपत्तिजनक या अश्लील संदेशों पर नकेल कसने और ऐसे ग्राहकों के खिलाफ शिकायत प्राप्त करने के लिए एक हेल्पलाइन स्थापित करने का आदेश भी जारी किया था।

दूरसंचार विभाग ने जोशी पर मिश्रा के खिलाफ शिकायत दर्ज करने के लिए आधिकारिक ‘लेटरहेड’ का दुरुपयोग करने और बिना किसी अधिकार के आपत्तिजनक संदेशों और शिकायतों के समाधान के लिये तैयारी करने को लेकर दूरसंचार परिचालकों को आदेश जारी करने का आरोप लगाया था।

उल्लेखनीय है कि दिल्ली सरकार ने राजनीतिक नेतृत्व के साथ विवाद के बाद 2015 में जोशी को उनके मूल कैडर दूरसंचार मंत्रालय में वापस भेज दिया था। उन्होंने दिल्ली के तत्कालीन प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार के खिलाफ 2015 में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो में शिकायत दर्ज कराई थी, जिसके आधार पर केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने दिसंबर, 2015 में दिल्ली सचिवालय पर छापा मारा था।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)