देश की खबरें | देश में अब तक कोविड-19 के 13 करोड़ से अधिक नमूनों की जांच, संक्रमण दर में गिरावट जारी : सरकार
एनडीआरएफ/प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credits: ANI)

नयी दिल्ली, 21 नवंबर देश में कोविड-19 का पता लगाने के लिए अब तक 13 करोड़ से अधिक नमूनों की जांच की जा चुकी है जिसमें आखिरी के एक करोड़ नमूनों की जांच महज 10 दिन में की गई है, वहीं संक्रमण की दर कम बनी हुई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को यह जानकारी दी।

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार प्रतिदिन 10 लाख से ज्‍यादा जांच कराने की प्रतिबद्धता के अनुरूप पिछले 24 घंटे में 10,66,022 नमूनों की जांच की गई और इस तरह भारत में कुल मामलों की समग्र जांच संख्‍या बढ़कर 13,06,57,808 हो गई।

यह भी पढ़े | Love Jihad Law: केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने बिहार सरकार से लव जिहाद के खिलाफ कानून लागू करने का आग्रह किया.

मंत्रालय ने कहा कि लोगों के संक्रमित होने की राष्‍ट्रीय दर शनिवार को 6.93 प्रतिशत रही, जो सात प्रतिशत के स्‍तर से कम है। वहीं, शुक्रवार को संक्रमण की दर मात्र 4.34 प्रतिशत थी। जांच बड़ी संख्‍या में हो रही है और संक्रमण की पुष्टि की दर में गिरावट आई है।

मंत्रालय ने कहा, ‘‘प्रतिदिन औसतन 10 लाख से ज्‍यादा नमूनों की जांच से संक्रमण की पुष्टि की समग्र दर को कम स्‍तर पर कायम रखा जा सका है और इस तरह इसमें फिलहाल गिरावट का रुख दिख रहा है।’’

यह भी पढ़े | Pollution in India: देश में बढ़ते प्रदुषण को लेकर कांग्रेस का केंद्र पर निशाना, कहा-बीजेपी ने पर्यावरण के संरक्षण के लिये नहीं बनाई एक भी नीति.

पिछले करीब एक करोड़ कोविड-19 नमूनों की जांच मात्र 10 दिन की अवधि में की गई।

मंत्रालय के अनुसार समस्‍त भारत की तुलना में 24 राज्‍यों/केन्‍द्रशासित प्रदेशों में प्रति 10 लाख की आबादी पर अधिक जांच कराई गई। वे 12 राज्‍य/केन्‍द्रशासित प्रदेश जहां राष्‍ट्रीय औसत की तुलना में प्रति 10 लाख की आबादी पर कम जांच कराई गई हैं, उन्हें जांच के स्‍तर को पर्याप्‍त रूप से बढ़ाने की सलाह दी गई है।

मंत्रालय ने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान 46,232 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए।

उसने कहा, ‘‘प्रतिदिन संक्रमण के पुष्ट मामलों की दर 4.34 प्रतिशत पर रहना दर्शाता है कि कुल आबादी के बीच बड़ी संख्‍या में नमूनों की जांच कराई गई है। अमेरिका और यूरोप के देशों में संक्रमण के मामलों में लगातार हो रही वृद्धि की तुलना में भारत महामारी को फैलने से रोकने के लिए सतर्कता के साथ हर संभव कदम उठा रहा है।’’

उसने कहा, ‘‘उत्‍तर भारत के कुछ राज्‍यों में कोविड-19 के मामलों में हुई वृद्धि को देखते हुए केन्‍द्र ने सभी राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों को जांच की संख्‍या बढ़ाने की सलाह दी है।’’

भारत में फिलहाल 4,39,747 मरीज उपचाराधीन हैं, जो भारत में अब तक सामने आए कुल संक्रमितों का 4.86 प्रतिशत हैं।

मंत्रालय ने कहा कि भारत में पिछले 24 घंटों के दौरान 49,715 नए रोगी ठीक होकर घर लौटे हैं और इस तरह ठीक हुए रोगियों की कुल संख्‍या 84,78,124 हो गई है। रोगियों के ठीक होने की दर आज 93.67 पर आ गई है।

उसने कहा कि इलाज करा रहे रोगियों की संख्या और संक्रमणमुक्त हुए रोगियों की संख्या का अंतर क्रमश: बढ़ रहा है और यह 80,38,377 पर आ गया है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार ठीक होने वाले रोगियों के 78.19 प्रतिशत मामले 10 राज्‍यों/केन्‍द्रशासित प्रदेशों से हैं।

दिल्‍ली में 8,775 लोग कोविड-19 से ग्रस्त होने के बाद ठीक हुए हैं। महाराष्‍ट्र में 6,945 और केरल में 6,398 नए रोगी ठीक हुए हैं।

उसने कहा कि नए मामलों में 77.69 प्रतिशत 10 राज्‍यों/केन्‍द्रशासित प्रदेशों से हैं। दिल्‍ली में पिछले 24 घंटों के दौरान 6,608 मामले आए हैं। केरल में 6,028 नए मामले सामने आए हैं, जबकि महाराष्‍ट्र में शुक्रवार को 5,640 नए मामलों का पता चला था।

मंत्रालय ने कहा कि पिछले 24 घंटे में इस रोग से हुई 564 लोगों की मौत के मामलों में से 82.62 प्रतिशत मामले 10 राज्‍यों/केन्‍द्रशासित प्रदेशों से हैं।

मौत के नए मामलों में से 27.48 प्रतिशत मामले महाराष्‍ट्र से हैं जहां 155 संक्रमितों की मृत्यु हो गई। दिल्‍ली में भी 118 लोगों की मौत हो गई जो कुल मामलों का 20.92 प्रतिशत हैं।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)