देश की खबरें | दिल्ली के वायु प्रदूषण के मुख्य कारणों में स्थानीय कारक, आप सरकार ने क्या किया :भाजपा
एनडीआरएफ/प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credits: ANI)

नयी दिल्ली, 17 अक्टूबर भाजपा ने शनिवार को दिल्ली में वायु प्रदूषण के मुख्य कारणों में स्थानीय कारकों को जिम्मेदार ठहराते हुए आरोप लगाया कि आप सरकार यह कहकर केंद्र पर जिम्मेदारी डालने की कोशिश कर रही है कि पंजाब और हरियाणा में पराली जलाना धुंध की मुख्य वजह है।

भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा ने एक ब्रीफिंग में कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में शुक्रवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक में सुधार हुआ है जबकि पीएम 2.5 कणों में 18 प्रतिशत कण पराली जलाने की वजह से आए हैं और पहले के मुकाबले ये बढ़ गये हैं।

यह भी पढ़े | Bihar Assembly Election 2020: बीजेपी के लिए प्रचार करेंगे ये 30 स्टार प्रचारक, पार्टी ने जारी की ताजा सूची, PM मोदी, सीएम योगी का नाम शामिल, देखें पूरी लिस्ट.

आईआईटी कानपुर के 2015 के एक अध्ययन में भी कहा गया था कि दिल्ली में वायु प्रदूषण में मुख्य कारक सड़क पर उड़ने वाली धूल (38 प्रतिशत), वाहनों से होने वाला प्रदूषण (20 प्रतिशत) और घरेलू स्रोत (12 प्रतिशत) हैं।

शर्मा ने इसका हवाला देते हुए कहा, ‘‘इसका आशय है कि दिल्ली के कुल वायु प्रदूषण में 70 प्रतिशत के लिए स्थानीय कारक जिम्मेदार हैं। तो दिल्ली सरकार हमेशा केंद्र सरकार पर प्रदूषण प्रबंधन की जिम्मेदारी डालने के लिए पंजाब और हरियाणा को क्यों कोसती है।’’

यह भी पढ़े | दिल्ली: उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने किया स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी के प्रस्तावित स्थल का निरीक्षण, कहा- दुनिया में भारत का नाम रौशन करेगी ये यूनिवर्सिटी.

उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार ने अपने 65,000 करोड़ रुपये के बजट में से केवल 52 करोड़ रुपये पर्यावरण के लिए दिए, वहीं केंद्र सरकार ने दिल्ली-राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में वायु प्रदूषण और पराली जलाने की घटनाओं से निपटने के लिए इस साल 1,600 करोड़ रुपये चिह्नित किये।

भाजपा प्रवक्ता ने आम आदमी पार्टी (आप) को ‘ऑलवेज अलिजिंग पार्टी’ (हमेशा आरोप लगाते रहने वाली पार्टी) करार देते हुए कहा, ‘‘पराली जलाने के मुद्दे पर ज्वलंत प्रश्न यह है कि पंजाब सरकार ने समस्या से निपटने के लिए क्या किया? और इससे भी ज्यादा महत्वपूर्ण बात यह है कि ‘ऑलवेज अलिजिंग पार्टी’ और दिल्ली सरकार ने कोरोना वायरस के समय पूरी दिल्ली को परेशान कर रहे पर्यावरण प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए क्या किया है?’’

उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार ने केवल आरोपों और दावों के अलावा कुछ नहीं किया।

पंजाब के संगरूर से 2019 में पराली जलाने की सर्वाधिक घटनाएं सामने आने का दावा करते हुए शर्मा ने कहा कि यह आप सांसद भगवंत मान का लोकसभा क्षेत्र है और यहां की नौ में से पांच विधानसभा सीटों पर आप के विधायक हैं।

भाजपा प्रवक्ता ने सवाल किया, ‘‘उन्होंने क्या किया है?’’

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)