जरुरी जानकारी | जेएलएल इंडिया की रियल एस्टेट प्रौद्योगिकी बाजार में बड़ी हिस्सेदारी पर नजर

नयी दिल्ली, एक अगस्त संपत्ति सलाहकार कंपनी जेएलएल इंडिया की योजना रियल एस्टेट से जुड़े प्रौद्योगिकी बाजार में बड़ी भागीदार बनने की है।साथ ही कंपनी अपने आवास ब्रोकरेज कारोबार की वृद्धि पर निवेश करेगी।

कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और कंट्री हेड रमेश नायर ने अगले पांच साल में कंपनी की स्थिति पर पूछे एक सवाल के जवाब में कहा, ‘‘मेरा मानना है कि जेएलएल इंडिया रियल एस्टेट से जुड़़े प्रौद्योगिकी बाजार की प्रमुख खिलाड़ी होगी।’’

यह भी पढ़े | तमिलनाडु: ऑनलाइन क्लासेस के लिए स्मार्टफोन न मिलने पर 10वीं कक्षा के छात्र ने कथित तौर पर की आत्महत्या.

कोविड-19 संकट और महामारी नियंत्रित करने के इरादे से किए गए लॉकडाउन के चलते रियल एस्टेट क्षेत्र में प्रौद्योगिकी का उपयोग बढ़ा है।

नायर ने कहा कि यह साल जेएलएल समेत सभी के लिए मुश्किल भरा रहा है। अन्यथा सामान्य दिनों में कंपनी हर साल मुनाफे और कारोबार में 15 से 18 प्रतिशत की दर से वृद्धि कर रही थी।

यह भी पढ़े | 7th Pay Commission: कोरोना काल में सरकारी नौकरी पाने का सुनहरा मौका, सैलरी- 62 हजार रुपये प्रतिमाह.

नायर एक वेबिनार को संबोधित कर रहे थे। इसका आयोजन वर्कप्लेस ट्रेंड्स इंडिया के संस्थापक तुषार मित्तल ने किया।

जेएलएल इंडिया अमेरिका की प्रमुख संपत्ति सलाहकार कंपनी जेएलएल का हिस्सा है। कंपनी मख्य तौर पर वाणिज्यिक स्थानों को पट्टे पर देने और उन स्थानों के प्रबंधन का काम देखती है। वित्त वर्ष 2018-19 में कंपनी ने 4,135 करोड़ रुपये का कारोबार किया थ 2019-20 के आंकड़े आने अभी बाकी हैं।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)